LIVE24X7

अस्पतालों में अत्याधिक सुविधा भी व्यवस्थित की जा रही

संवाद सूत्र संग्रामपुर (मुंगेर)

सूबे की सरकार द्वारा स्वास्थ्य व्यवस्था में सुधार लाने हेतु तरह-तरह की व्यवस्था की जा रही है। अस्पतालों में अत्याधिक सुविधा भी व्यवस्थित की जा रही है। बावजूद इसके चिकित्सकों एवं परिचारिकाओं की मनमानी से मरीजों को अपनी जेब ढीली करनी पड़ रही है। कुछ कुछ ऐसा ही माजरा मंगलवार को प्रखंड मुख्यालय स्थित सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र संग्रामपुर में देखा गया।

जानकारी के अनुसार प्रखंड के गोविंदपुर गांव के कुंदन कुमार पिता मनोहर शाह अपना इलाज कराने सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र संग्रामपुर आए। सबसे पहले इन्होंने पर्ची कटाया उसके बाद मंगलवार को ड्यूटी पर तैनात डॉ गौतम कुमार साह से अपना इलाज कराया। डॉ गौतम कुमार ने दवा की पर्ची के साथ-साथ एक अन्य पर्ची भी दिया जिसमें तीन तरह की जांच कराने को कहा गया था। जिसमें सीबीसी, एम पी, विडाल, जिस पर्ची पर इन्होंने जांच के लिए लिखा वह संग्रामपुर के एक निजी पाल पैथोलॉजी का था। जो डॉ गौतम कुमार एवं पाल पैथोलॉजी के मिलीभगत को दर्शाता है। जबकि तीन जांच में दो जांच की व्यवस्था सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में उपलब्ध था। जब फॉर्मोसिस्ट रघुनंदन प्रसाद केशरी के पास गया तो उन्होनें कहा कि प्राइवेट पर्ची में नहीं सरकारी पर्ची पर डॉक्टर से लिखवा कर लाये तभी जाँच होगा। जब डॉक्टर से पूछा तो उन्होनें बताया कि ये सारे जाँच बाहर से होगा। डॉक्टर के साथ साथ अस्पताल में उपस्थित स्वास्थ्य कर्मी भी यही बताया कि ये सारे जाँच बाहर से ही होगा। बताते चलें कि प्रखंड स्थित सभी जाँच घर में मनमाने ढंग से जाँच के रकम वसूले जा रहे हैं। जिस जाँच के लिए चिकित्सा पदाधिकारी गौतम कुमार ने लिखा उस जाँच के बारे में एक जानकर ने बताया कि इस तीनों जाँच का मात्र तीन सौ रुपये ही लेना है। जबकि पैथोलॉजी बाले इस जाँच का सात सौ रुपया जमा कराने के बाद ही जाँच किया। इसकी जानकारी मरीज कुंदन कुमार ने स्थानीय पत्रकारों को दी तब पत्रकारों ने गौतम कुमार से प्राइवेट पर्ची पर पैथोलॉजी का जाँच लिखने का कारण पूछा तो पहले तो उन्होनें कहा कि हमारे यहाँ जाँच की व्यवस्था नहीं हैं। इस लेकर मैंने प्राइवेट पर्ची पे लिखा जो हमारी भूल थी। बहरहाल यह प्रमाणित होता है कि अस्तपाल में जाँच एवं दवा की सारी व्यवस्था रहने के बाबजूद भी मरीजों को प्राइवेट पैथोलॉजी में जाँच कराना एवम बाहर से दबा खरीदना सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र संग्रामपुर में व्याप्त भ्रष्टाचार को दर्शाता है।   

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WhatsApp chat