LIVE24X7

इमरजेंसी हो तभी निकलें घर से बाहर,नहीं तो जब्त हो जाएगी गाड़ी

बिहार लॉकडाउन—

इमरजेंसी हो तभी निकलें घर से बाहर,नहीं तो जब्त हो जाएगी गाड़

 

 

रत्नेश कुमार

 

राजधानी पटना में गुरुवार से लॉकडाउन प्रभावी हो गया है।इस दौरान जिला प्रशासन ने केवल वैसे ही लोगों को घर से बाहर निकलने की छूट दी है जो अति आवश्यक कार्य से जा रहे हैं।

 

इस बार वाहनों की पास की सुविधा नहीं रखी गई है। लेकिन सड़कों पर वाहनों की चेकिंग होगी।राज्य सरकार के निर्देश पर जिला प्रशासन ने लोगों के लिए दिशानिर्देश जारी किया है।जिस में कहा गया है कि लोग अपना जरूरी काम करें लेकिन प्रयास करें कि लॉकडाउन की अवधि में घर में ही रहें।

 

बगैर आवश्यक कार्य के बाहर निकलने पर लोगों के वाहन जब्त किए जा सकते हैं।डीएम कुमार रवि का कहना है कि लॉकडाउन को लेकर लोगों में स्वयं जागरूकता आनी चाहिए।

 

खुला रहेगा रजिस्ट्री कार्यालय 16 से 31 जुलाई के बीच लॉकडाउन की अवधि में रजिस्ट्री कार्यालय खुले रहेंगे।लेकिन वहां सुरक्षा की पूरी व्यवस्था की जायेगी। किसी भी हालत में रजिस्ट्री कार्यालय में भीड़ नहीं होने का निर्देश दिया गया है। रजिस्ट्री कराने जाने वाले लोग अपने प्राइवेट गाड़ी से कार्यालय आ जा सकते हैं।

31 तक जू और पार्क पूरी तरह रहेंगे बंद।

 

जू और ईको पार्क सहित शहर के सभी 72 पार्क लॉकडाउन के बीच गुरुवार से 31 जुलाई तक मॉर्निग वॉकरों और आम दर्शकों के लिए पूर्णत: बंद रहेंगे।पार्क प्रशासन और जू प्रशासन ने इसकी घोषणा बुधवार को की,बीते 9 जून को अनलॉक टू में जू और पार्क आंशिक रूप से खुले थे।

 

मंदिर व सरकारी दफ्तर 31 जुलाई तक बंद

लॉकडाउन में पूरे राज्य के मठ व मंदिर में प्रवेश निषेध रहेगा।बिहार धार्मिक न्यास पर्षद के अध्यक्ष अखिलेश कुमार जैन ने बुधवार को इस संबंध में एक आदेश जारी किया है।आदेश में कहा गया है कि 16 से 31 जुलाई तक पूरे राज्य में लॉक डाउन रहेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WhatsApp chat