कुसुम बांध के जीर्णोधार नही होने से आक्रोशित ग्रामीणों ने लिया वोट बहिष्कार का निर्णय

चँदवा/लातेहार

राहुल कुमार के साथ बद्री गुप्ता की ब्यरो रिपोर्ट

चंदवा। प्रखंड के बनहरदी पंचायत अंतर्गत रेंची गांव के सैकड़ो की संख्या में ग्रामीणो ने गुरूवार को कुसमबांध के समीप बैठक की। बैठक की अध्यक्षता ग्राम प्रधान बिगू उरांव ने किया। बैठक में विगत दो दशक से जर्जर हुयी कुसुमबांध की स्थिति एवं स्थानीय जनप्रतिनिधियों के उदासीन रवैय पर रोष प्रकट किया गया। ग्रामीणो ने कहा कि वे कई बार स्थानीय सांसद व विधायक से कुसुमबांध को लेकर गुहार लगा चुके है लेकिन उसको सिर्फ आश्वासन हीं मिला है। बैठक के बाद ग्रामीणो सर्वसम्मति से इस बार विधानसभा चुनाव में वोट बहिस्कार का निर्णय लिया। ग्रामीण विरेन्द्र उरांव, मंटू कुमार, अजित साहू, चिंतामणि देवी, जयराम उरांव सरस्वती देवी समेत अन्य ग्रामीणो ने कहा कि जब तक प्रशासन व सरकार कुसुमबांध का जिर्णोद्धार करते हुये स्कैप निर्माण नहीं करती तब तक हम सभी ग्रामीण वोट नहीं करेंगे। ग्रामीणो ने आगे कहा कि सरकारें गांवो में विकास के बड़े-बड़े विकास के दावे करती है लेकिन रेंची गांव आजादी के सात दशक बाद भी विकास से महरूम है। वोट बहिस्कार करने वालो में राजकुमार ठाकुर, सकिंदर भुइयाँ, जमेश्वर उरांव, नरेश उरांव, इंद्रमणि देवी, संगीता देवी, शिलामणि देवी, बबिता देवी, सुनिता देवी, राजेन्द्र ठाकुर, शिव प्रसाद ठाकुर समेत सैकड़ो की संख्या में ग्रामीण शामिल थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WhatsApp chat