केसीसी कर्ज माफ करने व कई मुद्दों के लेकर माले ने किया अंचल कार्यालय का घेराव समस्या का जल्द करे निष्पादन नही तो सीएम आवास का करेंगे घेराव

कैमरा मैन राहुल कुमार के साथ बद्री गुप्ता लातेहार ब्यूरो की रिपोर्ट

कन्हाईलातेहार जिला केबरवाडीह। गुरुवार को भाकपा माले के जिला सचिव बिरजू राम एवं माले नेता कन्हाई सिंह के नेतृत्व में प्रखंड के कई पंचायतों के लगभग सैकड़ो मजदूर किसान अपने केसीसी कर्ज को माफ करने को लेकर प्रखंड मुख्यालय में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एवं मुख्यमंत्री रघुवर दास के खिलाफ जुलूस निकाल कर बरवाडीह अंचल कार्यालय का घेराव किया। इस दौरान कार्यक्रम में उपस्थित कई पंचायतों के मजदूर किसानों को संबोधित करते हुवे माले के राज्य सचिव जनार्धन प्रसाद ने कहा कि भाजपा की सरकार आज खुल कर दिखा दिया कि हम सिर्फ पूंजीपतियों के लिए गरीब किसान के लिए कोई जगह मेरे पास नही है। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार के किसान विरोधी नीति ने जहां देश के किसानों की कमर तोड़ दी।

यहां तक कि सैकड़ो किसान आत्महत्या या मौत के शिकार हो रहे है, वहीं मोदी सरकार पूंजीपतियों- आर्थिक कारोबारियों खास कर अपने चहेते अडानी-अम्बानी, टाटा-बिड़ला जैसे लोगो को 3,16,500 करोड़ रुपये बैंक का कर्ज माफ कर उनके विकास के लिए हमेसा तत्पर है। काला धन वापस करने की बात करने वाले प्रधानमंत्री आने संरक्षण में देश को चुना लगाने वाले विजय माल्या, नीरव मोदी और मेहुल चौकसी जैसे दर्जनों कालाबाजारियों को विदेश भेजने में कामयाब रहे। और गरीब किसान द्वारा लिए 10 से 20 हजार केसीसी ऋण को चुकाने के लिए किसान को लगातार नोटिस भेज रहे है। वहीं माले के जिला सचिव बिरजू राम ने कहा कि आज बरवाडीह प्रखंड में लगभग दो हजार किसान केसीसी कर्ज से तबाह है और बैंक से लगातार कर्ज वसूली की नोटिस उन्हें जीना हराम कर दिया है। जब पूंजीपतियों का कर्ज माफ हो सकता है तो अन्नदाता किसानों का कर्ज माफ क्यों नही? वहीं माले नेता कन्हाई सिंह ने कहा कि इधर हाल सर्वे में हुई जमीन की गड़बड़ी के चलते भारी पैमाने पर जमीन की हेरा-फेरी हो गयी है।

जहां किसानों को अपनी जमीन का रसीद कटाना भी मुश्किल हो रहा है तथा लंबे समय से जोत-कोड़ कर रहे गैरमजरूआ जमीन का बंदोबस्ती पर रोक लगाकर या बंदोबस्ती जमीन को निरस्त कर रघुवर सरकार पूरे झारखंड में हजारों-हजार एकड़ जमीन पूंजीपतियों के हित के लिए भूमि बैंक बना रही है। साथ ही वनाधिकार कानून में बदलाव कर जंगलों में रह रहे हजारों किसानों को बलपूर्वक उजड़ने की तैयारी कर चुकी है। वहीं माले नेता के साथ माले के सैकड़ो कार्यकर्ताओं व किसान-मजदूर अंचल कार्यालय का घेराव कर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एवं मुख्यमंत्री रघुवर दास के खिलाफ जम कर नारेबाजी किया। वहीं मले नेताओं ने राज्यपाल के नाम चार सूत्री मांग अंचलाधिकारी नित निखिल सुरीन को सौपते हुवे सभी समस्या से जल्द से जल्द निजाद दिलाने का मांग किया है। उन्होंने कहाँ की अगर सभी समय का समाधान जल्द नही निकल गया तो हमलोग रांची मुख्यमंत्री आवास घेरने पर विवश हो जाएंगे। वहीं मौके पर राजेन्द्र सिंह, सतेंद्र कुमार सिंह, अशोक सिंह, कमलेश सिंह, जितेंद्र सिंह, बचन सिंह, सुदर्शन सिंह, फ्रांसीस गुड़िया, जेम्स हेरेंज समेत कई माले नेता व सैकड़ो मजदूर किसान मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WhatsApp chat