गया में खाध समाग्री वस्तुओं की उपलब्धता एवं मूल्य प्रदर्शन करना होगा,पेट्रोल पंप एवं गैस ऐजेसिंयो को सैनिटाइजेशन का रखना होगा ध्यान.

गया में कोरोना वायरस (कोविड-19) के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए गया जिला में लॉक डाउन किया गया है। आज इसके बारे में सरकार के अपर सचिव खाद्य एवं उपभोक्ता संरक्षण विभाग, बिहार पटना के पत्रांक 1462/ खाद्य दिनांक 23.03.2020 के द्वारा कोरोना वायरस से उत्पन्न हुई स्थिति एवं वैश्विक महामारी को ध्यान में रखते हुए आवश्यक वस्तुओं की उपलब्धता सुनिश्चित करने हेतु आवश्यक कार्रवाई करने के अनुरोध के ध्यान देते हुए भी गया जिला में आम नागरिकों के हित में बाजार में आवश्यक वस्तुओं की निगरानी एवं उसकी उपलब्धता सुनिश्चित करने हेतु जिला दंडाधिकारी अभिषेक सिंह द्वारा निम्न कार्रवाई की गयी है

आवश्यक वस्तुओं यथा गेहूं और गेहूं उत्पाद/चावल/चना/आटा( गेहूं,चावल /चना ) मकई/दलहन/दाल/नमक/गुड़/चीनी/ सभी प्रकार के खाद्य तेल एवं वनस्पति/बेबी फ़ूड/सोडा/ऐश/ एल.पी.जी./ पेट्रोल/डीजल आदि के थोक एवं खुदरा विक्रेताओं द्वारा उपलब्धता *खुदरा विक्रेताओं के लिए *”हां”*या* *”नहीं”** में एवं इनके मूल्य का प्रदर्शन करना अनिवार्य कर दिया गया है जिससे आम लोगों को आवश्यक वस्तुओं की उपलब्धता के संबंध में जानकारी होने के साथ ही साथ मूल्य की भी जानकारी हो सके। एल.पी.जी. गैस सिलेंडर उपभोक्ताओं को Proper Hygiene and Sanitation को बनाए रखा जाना है। और इसी तरह पेट्रोल पंप पर भी आने वाले उपभोक्ताओं तथा नोट लेने वाले कर्मचारियों को भी हैंड सैनिटाईजर एवं मास्क का प्रयोग करने हेतु निर्देश दिया गया है। जितने भी अंकित सामग्रियों की उपलब्धता एवं विवरण तथा कालाबाजारी पर रोक लगाने जाने तथा निगरानी हेतु दंडाधिकारी के रूप पर्याप्त संख्या में पर्यवेक्षकों/पुलिस पदाधिकारियों की प्रतिनियुक्ति की गयी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WhatsApp chat