चौथे दिन भी भूख हड़ताल पर बैठे रहे शिक्षक.

जहानाबाद से बरूण कुमार:—

मूल्यांकन वहिष्कार एवं हड़ताल के 24वें दिन तथा भूख हड़ताल के चौथे दिन माध्यमिक शिक्षकों द्वारा संघ भवन जहानाबाद में धरना दिया गया। ईस भूख हड़ताल में 43 शिक्षकों ने भाग लिया तथा हौसला अफजाई के लिए 105 शिक्षकों की उपस्थिति रही जिसकी अध्यक्षता बैजनाथ प्रसाद शर्मा ने किया। संघ शाचिव विद्यानंद शर्मा ने कहा कि बिहार में दो तरह के शिक्षा की व्यवस्था है। एक में अमीर के बच्चे पढ़ते हैं जो यदि दो दिन भी विद्यालय नहीं जाते है तो सभी लोग उनसे जरूर बात करते हैं

क्योंकि इन्हें अपने बच्चों की पढ़ाई की फिक्र होती है। लेकिन सरकारी विद्यालय में गरीब,गुरबे,दबे-कुचले के बच्चे पढ़ते है एवं गरीब के बच्चों की पढ़ाई 24 दिनों से बंद है फिर भी सरकार शिक्षकों से एक बार भी बात नहीं की है। इससे गरीब बच्चों के प्रति सरकार की मंशा स्पष्ट है। सरकार शिक्षा व्यवस्था चौपट करना चाहती है ताकि बच्चे मूर्ख रह सके और बड़े होकर आंख मूंदकर वोट दे सके। बिहार सरकार मानक मंडल के अनुसार शिक्षकों की नियुक्ति करे ताकि भावी पीढ़ी के युवा भी शिक्षक बनने का सपना देख सके। सरकार समान काम समान वेतन दे तथा तमाम शिक्षकों को गैर शैक्षिक कार्यों से मुक्त करे तब गुणवत्तापूर्ण शिक्षा देने से कोई रोक नहीं सकता है। यह हड़ताल, तालाबन्दी तथा भूख हड़ताल तबतक जारी रहेगा जबतक हमारी मांगे मान ली नहीं जाती। आज के भूख हड़ताल में उच्च विद्यालय पाली बाजार, मुरलीधर उच्च विद्यालय जहानाबाद, उच्च विद्यालय सागरपुर, उच्च विद्यालय बौरी उच्च विद्यालय भारथु,एवं उच्च विद्यालय पितम्बरपुर के शिक्षक/शिक्षिकाएं शामिल थे। इसके अलावा अरुण पासवान, अजित कुमार, चंद्रशेखर आजाद, सुनील कुमार, कमलनयन बाबू, विनोद कुमार, पंकज कुमार दिवाकर, अभय कुमार, विक्रांत कुमार, कौशल किशोर मधुकर आदि शिक्षक मौजूद थे। आज दुख भरा खबर ये रहा कि उच्च विद्यालय अलीगंज के रिटायर शिक्षक का देहांत हो गया। उनकी मृत्यु से जहानाबाद के शिक्षा की अपूर्णीय क्षति हुई है। उनकी आत्मा की शांति के लिए शिक्षकों ने 2 मिनट का मौन रखा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WhatsApp chat