LIVE24X7

जन-जन की आकांक्षा को पूरा करने वाला है बजट: हरी मांझी

गया वितमंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा आज पेश किये हुए बजट की सराहना करते हुए पूर्व सांसद एवं कमलेश सिंह ने कहा “ आज तक के सबसे लंबे बजट भाषण के जरिए माननीय वितमंत्री निर्मला सीतारमण जी ने एक बार फिर यह साबित कर दिया है कि केंद्र सरकार के लिए देश और देशवासी सबसे पहले हैं. सरकार ने इस बजट में युवा, किसानों, महिलाओं, व्यवसायीयों, मध्यमवर्गीय परिवारों समेत समाज के हर वर्ग का ख्याल रखा है. ‘मेक इन इंडिया’ को बढ़ावा देते हुए सरकार ने फार्मा सेक्टर के अंतर्गत एंटी-डंपिंग ड्यूटी लगायी है जिससे चीन और बाकी मुल्कों से आयात होने वाले उपकरणों पर रोक लगेगी, इसके फलस्वरूप \न केवल भारतीय उद्योगों को बढ़ावा मिलेगा बल्कि इससे रोजगार में भी बढ़ोतरी होगी।

इसके अलावा बांड मार्केट को टैक्स में मिली छूट से विदेशी निवेश को प्रोत्साहन मिलेगा,जो भारतीय अर्थव्यवस्था के सशक्तिकरण में एक नई क्रांति का सूत्रपात करेगा।इसके अलावे आज पेश हुए बजट में सरकार ने 5 लाख तक की आय वाले सभी परिवारों को टैक्स से राहत देकर एक ऐतिहासिक कदम उठाया है जिससे नौकरीपेशा मध्यमवर्गीय परिवारों, छोटे व्यवसाइयों आदि समाज के हर तबके को फायदा मिलेगा और देश के अन्नदाता किसानों की आय दुगनी करने के लिए ऐतिहासिक कदम उठाते हुए सरकार ने इस बजट में 16 सूत्रीय फ़ॉर्मूला पेश किया है जिसमें सिंचाई से लेकर भंडारण और फसलों की मार्केटिंग जैसी सभी सुविधाओं का ख्याल रखा गया है इसके अलावा साल 2020-21 के लिए अनुसूचित जाति और अन्य पिछड़े वर्गों के लिए 85 हजार करोड़ रुपये के प्रस्ताव की घोषणा की गयी है।अनुसूचित जनजाति के लिए अलग से 53 हजार 700 करोड़ रुपए का बजट प्रस्ताव किया गया है।समाज के वंचित वर्गों के कल्याण के लिए सरकार द्वारा लिए गये यह कदम दिखाते हैं कि समाज कल्याण वर्तमान सरकार के लिए सर्वोपरि है.पुर्व सांसद हरी मांझी ने आगे कहा “ युवाओं के लिए इस बजट में एक बड़ा एलान करते हुए वितमंत्री जी ने जल्द ही नई शिक्षा नीति की शुरुआत करने की घोषणा की है जिससे युवाओं के ज्ञान के साथ ही उनके स्किल में भी बढ़ोतरी होगी. गौरतलब हो कि इस बजट में शिक्षा के लिए 99300 करोड़ रुपये शिक्षा के लिए और 3000 करोड़ स्किल डेवलपमेंट के लिए आवंटित किए गए हैं।बजट के मुताबिक मार्च 2021 तक 150 उच्च शिक्षण संस्थान शुरू हो जाएंगे, वहीं क्वालिटी एजुकेशन के लिए डिग्री लेवल ऑनलाइन स्कीम शुरू किया जाएगा.”पूर्व सांसद प्रतिनिधि कमलेश सिंह ने कहा “वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण जी ने बजट 2020-21 में कुछ ऐसी अहम घोषणाएँ भी की हैं, जिन पर सबका उतना ध्यान नहीं गया. शिक्षा, स्वास्थ्य, कृषि और इंफ्रास्ट्रक्चर के अतिरिक्त विज्ञान एवं तकनीक और संस्कृति एवं पर्यटन के लिए भी बजट में ख़ास व्यवस्था की गई है. राखीगढ़ी, हस्तिनापुर, शिवसागर, धोलावीरा और आदिचनल्लूर- इन 5 प्राचीन पर्यटन स्थलों पर ऑन-साइट म्यूजियम के निर्माण की घोषण की गई है। वरिष्ठ नागरिकों व दिव्यांग जनों के लिए बजट में 9500 करोड़ रुपए की घोषणा की गई है. इसके अलावा इंटेरनेट कनेक्टिविटी के लिए 6000 करोड़ रुपए का निर्धारित किया गया है. कुल मिलाकर सरकार के इस बजट से देश की प्रगति को नई गति मिलनी तय है. इस बजट के बाद देश और तेजी से प्रगति के पथ पर आगे बढेगा.”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WhatsApp chat