जन सूचना अधिकार के अंतर्गत ग्राम प्रधान गुनौरा का भ्रष्टाचार हुआ उजागर

मनकापुर गोंडा:मनकापुर विकासखंड के गुनौरा गांव में जन सूचना अधिकार अधिनियम के तहत दी गई सूचना ने गांव के विकास में किए गए लाखों रुपए के भ्रष्टाचार को उजागर करते हुए कथित विकास की पोल खोल दी है| गांव में तालाब की खुदाई, जीर्णोंद्वार पर जमकर खेल हुआ है| प्राप्त सूचना में बताया गया है कि मनकापुर विकासखंड के पिछड़े गांव गुनौरा में तमाम विकास कार्यों को लेकर स्वीकृत प्रदान करते हुए धन उपलब्ध कराए गए|

लेकिन मौके पर विकास कार्य तो नहीं कराया गया | लेकिन विकास कार्यों से जुड़े जिम्मेदार लोगों का विकास जमकर हुआ |गुनौरा गांव निवासी कृष्णमोहन पुत्र भभूति को खंड विकास अधिकारी मनकापुर ने जन सूचना के तहत जो जानकारी उपलब्ध कराई है वह बहुत चौंकाने वाले हैं| गुनौरा गांव में वर्ष 2018 के नवंबर माह में सोशल ऑडिट की ग्राम सभा बैठक में भीटा तालाब,नरेंद्रपुर तालाब का जीर्णोंद्वार व बेलाहा तालाब के बंधा निर्माण से संबंधित मुद्दे उठाए गए थे| सोशल ऑडिट रिपोर्ट के अवसर पर ग्रामीणों ने बताया कि नरेंद्रपुर तालाब में कभी जल संचयन नहीं किया गया| इस तालाब में 5-6 वर्षों में कोई कार्य नहीं कराया गया है| नरेंद्रपुर तालाब के जीर्णोद्वार पर वर्ष दो हजार अट्ठारह- उन्नीस में ₹210525 खर्च होना दर्शाया गया है|

जबकि वर्ष 2015 -16 में इसी कार्य पर ₹237797 खर्च किए गए थे| दोनों बार दर्शाए गए कार्यों में मात्र 3 वर्ष का अंतर पाया गया है| तीन वर्ष में एक ही तालाब का नाम व वर्क आईडी बदल कर कार्य दिखाया गया है ,जो कि मनरेगा ऑपरेशनल गाइडलाइन का खुला उल्लंघन है | खुदाई पर ₹450000 व्यय किया गया है| लेकिन मौके पर कोई कार्य नहीं हुआ है| इसी तरह भीटा तालाब पर 2016, 17 में सफाई के नाम पर ₹51000 निकाल लिए गए | भीटा तालाब पर पिछले 3 वर्षों से तकरीबन 6.30 लाख रुपए में होना दर्शाया गया है| लेकिन मौके पर निकाली गई कोई मिट्टी नहीं पाई गई|

कोल्हुआ तालाब के जीर्णोद्वार पर वित्तीय वर्ष 2018-19 व 2019-20 में 383000 रुपए में पाया गया|लेकिन मौके पर कार्य अधूरा है| सोशल ऑडिट टीम को ग्राम पंचायत गुनौरा में वित्तीय वर्ष दो हजार अट्ठारह उन्नीस में कराए गए कार्यों की पत्रावली , स्टीमेट, एमबी बुक, मस्टर रोल, सामग्री खरीद व्योरा ग्राम पंचायत द्वारा पिछले 3 वर्षों में उपलब्ध नहीं कराया गया|टीम ने ग्रामीणों के सहयोग से ऑडिट किया| बैठक में विकास कार्यों की तकनीकी जांच- मूल्यांकन करा कर दुरुपयोग की गई धनराशि को जिम्मेदारो से वसूलने की शिकायत भी की गई है |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WhatsApp chat