जिलाधिकारी श्री कुमार रवि की अध्यक्षता में आज समाहरणालय स्थित सभा कक्ष में पराली (पुआल) जलाने को रोक-थाम को ध्यान में रखते हुए Combine Harvest के मालिक के साथ बैठक सम्पन्न हुई।

पटना से रत्नेश कुमार

बैठक में जिलाधिकारी ने Combine harvest के मालिक (किसान) को पराली के संबंध में सरकार के निर्देश से अवगत कराया। निर्देश से अवगत कराते हुए बताया कि किसान खेतों में पराली न जलाएँ। पराली जलाने से खेत की उर्वरा शक्ति क्षीण होती है तथा पर्यावरण प्रदूषित होता है।जिलाधिकारी द्वारा किसानों से पराली न जलाने के संबंध में उनकी राय मांगी। किसानों द्वारा बताया गया कि मलचर (Multure)मशीन पराली के छोटे-छोटे टुकड़े कर खेत में फैलाने में सक्षम है,

जो खेत की नमी को बचाने के साथ-साथ कम्पोस्ट में परिवर्तित होकर खेत की उर्वरा शक्ति को बढ़ाता है। मलचर मशीन ऊंच अश्व शक्ति (60 HP) के ट्रैक्टर से जुड़कर चलता है। इससे पराली जैविक खाद्य बन जाता है। किसानों ने जिलाधिकारी से अनुरोध किया कि 60 एच0पी0 के ट्रैक्टर एवं मलचर(Multure) मशीन पर अधिक से अधिक सब्सीडी देने का प्रावधान सरकार द्वारा किया जाय। जिलाधिकारी ने किसानों से कहा कि किसानों की बातों को सरकार तक पहुँचायेंगे। किसानों द्वारा पराली को जैविक खाद्य बनाने के लिए वेस्ट डी0 कम्पोजर से संबंधित सामग्रियों पर अनुदान बढ़ाने का अनुरोध किया गया। साथ ही यह भी सुझाव दिया गया कि Supper Seeder एवं Happy Seeder मशीनों से भी पराली को जैविक खाद्य में बदला जा सकता है। बैठक में अधिकाशंतः किसानों एवं जिला कृषि पदाधिकारी द्वारा बताया गया कि पराली को जैविक खाद्य में बदलने के लिए मलचर मशीन ज्यादा उपयुक्त है। सरकार द्वारा किसानों के हित में अधिक से अधिक सब्सीडी दी जाय। जिला पदाधिकारी द्वारा Combine Harvest के मालिकों को निर्देश दिया गया कि वे सभी फसल कटाई के दौरान किसानों को पराली (फसल के अवशेष) नहीं जलाने के लिए प्रेरित करेंगे एवं उन्होंने पराली नहीं जलाने संबंधित 3फीट बाई 4फीट का प्रचार सामग्री Combine harvest के सभी भागों पर प्रदर्शित करेंगे। इस अवसर पर जिलाधिकारी श्री कुमार रवि के साथ अपर समाहत्र्ता आपदा प्रबंधन श्री मृत्युंजय कुमार, जिला कृषि पदाधिकारी श्री राकेश रंजन, जिला के विभिन्न प्रखंड से आए हुए 60 से अधिक किसान एवं कृषि समन्वयक उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WhatsApp chat