जिले के चर्चित सोना लूट कांड के कांड अनुसंधानक को कारण बताओ नोटिस

पटना जिले के बख्तियारपुर से रत्नेश कुमार

जिले के बहुचर्चित ठकुरीचक सोना लूट कांड के मामले में संबंधित थाना पुलिस की कर्तव्य हीनता और लापरवाही बरते जाने पर खफा होकर सीजीएम ठाकुर अमन कुमार ने मामले के कांड अनुसंधानक से जवाब तलब किया है।कांड अनुसंधानक को 1 सप्ताह के भीतर सीजीएम महोदय के समक्ष हाजिर होकर जवाब देना है।उल्लेखनीय हो कि गत 12 नवंबर 19 को अहले सुबह कोलकाता से चलकर बरौनी जंक्शन पहुंची काठगोदाम एक्सप्रेस से उतरे बेगूसराय मुंगेरी गंज निवासी संतोष कुमार अपने साथी प्रिंस कुमार सोनी अभय कुमार अपनी निजी गाड़ी से बरौनी जंक्शन से बेगूसराय के लिए चले थे।

कि ठाकुरी चक स्थित मंदिर के पास अपराधियों ने गाड़ी ओवरटेक कर रोका था और गाड़ी चालक की गोली मारकर हत्या कर डिक्की में तीन बैग में रखे स्वर्ण आभूषण लूट लिया था ।आराम से चलते बने थे इस घटना में सूचक संतोष कुमार भी गोली लगने से घायल हो गया था संतोष कुमार के बयान पर प्राथमिकी दर्ज कर थाना पुलिस छानबीन में जुट गई थी।जिसमें थाना पुलिस द्वारा सुनार पट्टी बेगूसराय निवासी नितेश कुमार सर्राफ मुकेरीगंज बेगूसराय निवासी उमेश सोनी प्रेम कुमार संतोष कुमार आकाश कुमार कसर्वोदय नगर और रजवाड़ा निवासी शिवम कुमार को भी नामजद किया गया।इस मामले में अभियुक्त बनाए गए आकाश कुमार को संबंधित थाना पुलिस द्वारा इस मामले में रिमांड ही नहीं कराया गया और संबंधित थाना पुलिस ने तत्परता दिखाते हुए अभियुक्त शिवम और आकाश का पहचान परेड भी संपन्न करा लिया जिसमें दोनों की पहचान भी कर ली गई। जल्दबाजी में कांड अनुसंधानक ने पहचान परेड प्रतिवेदन भी अदालत मेंक प्रस्तुत कर दिया है। यही चूक अब कांड अनुसंधानक को भारी पड़ गई कि उसने बिना अभियुक्त आकाश कुमार को रिमांड कराए ही गलत जानकारी देकर अदालत से पहचान परेड कराने का बिचार हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WhatsApp chat