नए सत्र की कार्यकारिणी का गठन

छपरा शहर की सुप्रसिद्ध साहित्यिक संस्था वातायन की बैठक में नए सत्र की कार्यकारिणी का गठन करने का प्रस्ताव पारित किया गया। बैठक की अध्यक्षता साहित्यकार दक्ष निरंजन शंभू ने की। बैठक में प्रस्ताव के माध्यम से कहा गया कि सत्र की नई कार्यकारिणी के माध्यम से शहर में साहित्यिक गतिविधियों को बढ़ावा दिया जाएगा। गोष्ठियों की लुप्त हो रही परंपरा को नए सिरे से वातायन अपने माध्यम से युवा रचनाकारों के बीच स्थापित करने की कोशिश करेगी।

बैठक में वरीय साहित्यकार शंभू कमलाकर मिश्र, दक्ष निरंजन शंभू, रिपुंजय निशांत, सुहेल अहमद हाशमी, कुमार धीरज, शकील अनवर, रवि भूषण हसमुख, ज्योतिष पांडेय व अन्य उपस्थित हुए। सर्वसम्मति से नए सत्र के लिए नई कार्यकारिणी के पदाधिकारियों का निर्वाचन भी किया गया। संस्था के संस्थापक रिपुंजय निशांत के अलावा संरक्षक मंडल में दो सदस्य निर्वाचित किए गए। शंभू कमलाकर और दक्ष निरंजन शंभू संरक्षक बनाए गए। नए सत्र में वातायन के अध्यक्ष ज्योतिष पांडेय और उपाध्यक्ष प्रोफेसर शकील अनवर व कुमार धीरज बनाए गए। सचिव पद की जिम्मेवारी सुहेल अहमद हाशमी को दी गई। रवि भूषण हंसमुख कोषाध्यक्ष बनाए गए। कार्यकारिणी के 4 सदस्य निर्वाचित हुए जिनमें सुरेश चौबे, सीमा गिरि ल, ऐनुल बरॉलवी और अशोक शेरपुरी शामिल हैं। नवनिर्वाचित अध्यक्ष ने बताया कि जल्दी ही वातायन की अगली बैठक के माध्यम से एक कवि गोष्ठी की जाएगी ल। उसमें शहर के सभी वरीय साहित्यकारों को आमंत्रित किया जाएगा। रवि भूषण हंसमुख के धन्यवाद ज्ञापन के साथ बैठक की समाप्ति हुई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WhatsApp chat