नम आँखों से की गई माँ की विसर्जन

गौरव गुप्ता

ढोल की थाप और डीजे के धुन पर जयकारों के साथ थिरकते श्रद्धालु। गुलाल उड़ाते, झूमते गाते देवी भक्त। बुधवार को यह नजारा मिरजाचौकी में साकार हुआ। अवसर था दस दिनों से चल रहे दुर्गापूजा महोत्सव का। मिर्जाचौकी में स्थापित माता देवी की प्रतिमा का विसर्जन वहीं मंदिर के पास वाले तालाब में हुआ। जयकारों के साथ दुर्गा प्रतिमाओं को लेकर श्रद्धालु जहां से भी गुजरे माहौल भक्तिमय हो गया। भक्तों भारी मन से देवी प्रतिमाओं को तालाबों में विसर्जन कर अगले वर्ष फिर से आने का आग्रह किया।सिन्दुर खेल की परम्परामिर्जाचौकी की स्थानीय महिलाओं द्वारा सुबह देवी प्रतिमाओं के विसर्जन से पहले विशेष-पूजा अर्चना की गई।

महिलाओं ने देवी माता के सिन्दुर अर्पण किया। बाद में एक-दूसरे चेहरे पर सिन्दुर लगाकर सुख-समृद्धि की कामना की। देवी माता से परिवारजनों के लिए मंगल की कामना की। साथ ही अगले वर्ष फिर से आने का आग्रह किया। माता रानी की प्रतिमा मिर्जाचौकी के पूरे बाजार में घुमाया गया।आयोजन को लेकर पूजा समिति के सचिव शंभू जयसवाल, पूजा समिति के कोषाध्यक्ष बद्री प्रसाद भगत,टिंकल भगत,भाजपा नेता रविश कुमार,गौरव गुप्ता, नितिन जयसवाल, बालेश्वर भगत, नीरज रखनी सहित बड़ी संख्या में श्रद्धालुओं ने भागीदारी निभाई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WhatsApp chat