नुक्कड़ नाटक और वीडियो वेन जागरूकता के माध्यम से लोगों को लैंगिक भेदभाव, हिंसा, बाल विवाह, दहेज मिटाने व लड़कियों की शिक्षा के लिए एकजुट कदम बढ़ाने पर जोर

राकेश मिश्रा, धीरज गुप्ता:–

गया मे आज ब्रेकथ्रू संस्था की जागरूकता वीडियो वैन और नुक्कड़ नाटक की टीम टेकारी प्रखंड के दीघौरा और मंसारी पहुंची, इस मौके पर ग्राम पंचायत के मुखिया व ग्रामवासी शामिल रहे और आंगनवाडी कार्यकर्ती ने बताया की लड़के और लड़कियों की शादी कम उम्र में नहीं करनी चाहिए और शिक्षा में  दोनों को बराबर मौके दिया जाना चाहिए जो कि बहुत आवश्यक है इसके साथ ही आपने बताया माहवारी एक सामान्य प्रक्रिया है जो हर एक महिलाओं और लड़कियों को होती है, और हमे इसे छुआछूत या बीमारी नहीं समझना चाहिए। जिस तरह से हम आम दिनों में रहते हैं उसी तरह इन दिनों में और भी साफ सफाई के साथ रहना, पोषण युक्त भोजन करना चाहिए एवं हमारे समाज में माहवारी को लेकर गलत धारणा बनी हुई है अतः हम लोगो को इन गलत धारणाओं को समाप्त करने की जरूरत है और इसके प्रति लोगों को जागरूक करने की जरूरत है।


*चंदा की उड़ान नाटक से माहवारी से जुड़े मिथकों पर की चोट*- इस दौरान चंदा की उड़ान नामक एक नुक्कड़ नाटक भी किया गया जिसमें कलाकारों ने माहवारी से जुड़े मिथकों व भ्रांतियों के बारे में बताया और इसमें दिखाया कि माहवारी एक सामान्य प्रक्रिया है और इस दौरान छूने से अचार या तुलसी खराब नहीं होते हैं नाटक में चंदा अपने दादा जी से सवाल करती है कि क्या हमारी परम्पराएं इतनी कमजोर हैं कि माहवारी के दौरान एक लड़की पूजास्थल में नहीं जा सकती,रसोई में नहीं जा सकती और ये पुराने समाज की सोच है जिसे समय के साथ बदलना होगा एवं झोले वाली दीदी वीडियो के जरिये किशोर किशोरियों को किशोरावस्था में होने वाले शारीरिक, मानसिक व भावनात्मक बदलावों के बारे में बताया गया कि एक अन्य वीडियो उड़ान में लड़कियों का कम उम्र में विवाह न करने और उनकी शिक्षा पर जोर दिया जाए ताकि वे आत्मनिर्भर बन सकें।मालूम है कि ब्रेकथ्रू संस्था 3 फरवरी से 22 फरवरी तक कोंच व टेकारी प्रखंड के 40 गांवों में आओ शर्म छोड़ें, स्वास्थ्य पर बात करें नामक वीडियो वैन और नुक्कड़ नाटक के माध्यम से लोगों को जागरूक करेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WhatsApp chat