पटना में भारी बारिश के कारण 70 से ज्यादा मकान ध्वस्त, भोजन-पानी पर आफत, लोगों के बीच पहुंचे मंत्री श्याम रजक

पटना–बिहार में भारी बारिश से चारो ओर तबाही मची हुई है. बिहार के कई जिले इसकी चपेट में हैं. राजधानी पटना का सबसे बुरा हाल है. यहां 80 फीसदी आबादी प्रभावित है. शहर में भीषण जलजमाव से जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है. खाने-पिने और जरूरत की चीजों की किल्लत बढ़ गई है. पटना के ग्रामीण इलाकों और स्लम एरिया में दर्जनों कच्चे मकान ध्वस्त हो गए हैं. इस दौरान उद्योग मंत्री श्याम रजक ने अपने विधानसभा इलाके के कई गावों में दौरा किया. भोजन और पानी के लिए मारामारी मची हुई है. दुकानों से आलू, प्याज, चावल, आटा समेत अन्य सामग्रियां भी गायब होते जा रही है. कई दुकानों में राशन सामग्रियां मिलनी बंद हो गई हैं.

मंत्री श्याम रजक ने पटना के फुलवारी प्रखंड के रामपुर, फरीदपुर, कोरा, विरनचक, महमदपुर, सकरैचा, परसा, अब्दुल्लाचक और पुनपुन प्रखंड के डेहरी, कल्याणपुर, बाजितपुर, बरामा गावों का दौरा किया. इन इलाकों में लगभग 70 से ज्यादा कच्चे मकान धवस्त हो गए. बिहार सरकार के मंत्री श्याम रजक ने कहा कि बारिश से प्रभावित इलाकों में स्थिति गंभीर है. लोगों तक राहत पहुंचाने की कोशिश की जा रही है. हेलीकॉप्टर के माध्यम से लोगों तक राहत सामग्री पहुंचाई जा रही है. एसडीआरएफ की टीम भी लोगों की मदद करने में जुटी हुई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WhatsApp chat