LIVE24X7

पटना से गिरफ्तार हुआ आशिक मिजाज दारोगा,ड्यूटी के लिए महिला सिपाही से मांगता था जिस्म

पटना से रत्नेश कुमार

इस पूरे मामले को लेकर 15 दिसम्बर को डुमरांव थाने में आरोपी पुलिस अफसर पर आईपीसी की धारा 354 A, 504, 506, 509 और आईटी एक्ट में केस दर्ज कराया गया था।पटना बिहार पुलिस के एक दारोगा को आशिक मिजाजी के कारण जेल की हवा खानी पड़ी है।विभागीय काम करवाने के बदले महिला सिपाही से जबरन शारीरिक संबंध बनाने की कोशिश करना पुलिस पदधिकारी को महंगा पड़ गया।न्यूज़ 18 पर खबर आने के बाद विभाग में खलबली मच गई। बिहार पुलिस मुख्यालय ने इस पूरे मामले को गम्भीरता से लेते हुए डुमरांव स्थित बीएमपी 4 के कमांडेंट को पूरे मामले की जांच कर रिपोर्ट देने को कहा था।

जांच में दोषी पाया गया आरोपीकमांडेंट धीरज कुमार ने मामले की जांच कर दारोगा सत्येंद्र प्रसाद को दोषी पाते हुए तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया था। इस पूरे मामले को लेकर 15 दिसम्बर को डुमरांव थाने में आरोपी पुलिस अफसर पर आईपीसी की धारा 354 A, 504, 506, 509 और आईटी एक्ट में केस दर्ज कराया गया था।डुमरांव पुलिस ने तत्काल कार्रवाई करते हुए आरोपी दारोगा को गिरफ़्तार कर लिया।इस पूरे मामले में पीड़िता से भो पुलिस ने कई बिंदुओं पर पूछताछ की है। डुमरांव पुलिस ने ऑडियो को आगे की जांच के लिये एफएसएल पटना भेज दिया है।क्या है मामलापटना के शास्त्रीनगर इलाके में रहने वाले दारोगा सत्येंद्र प्रसाद पर आरोप है

कि वो अपने ही विभाग में काम करनेवाली महिला सिपाही से जबरन शारीरिक संबंध स्थापित करने का दबाब बना रहा था।पीड़िता ने अफसर और सिपाही के पद का वास्ता देने के साथ ही खुद द्वारा उसे सम्मान की नजर से देखने की बात कही लेकिन दारोगा अपनी डिमांड पर अड़ा रहा।थक हारकर पीड़िता ने बिहार पुलिस एसोसिएसन से खुद को बचाने की गुहार लगाई थी। एसोशिएसन ने इसके बाद न्यूज 18 से मदद की अपील की थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WhatsApp chat