प्रखण्ड मुख्यालय हेरहंज में विराट शिव गुरु का आयोजन ।

लातेहार से ब्यूरो सोनू गुप्ता की रिपोर्ट

कार्यक्रम का संचालन श्यामलाल गोस्वामी व लक्ष्मण प्रसाद ने किया।इस कार्यक्रम के मुख्य अतिथि भाई धनंजय अपने सहयोगियों के साथ उपस्थित हुए।इस कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य शिव गुरु परिचर्चा को जन जन तक पहुंचाना है।अधिक से अधिक लोगों को जोड़ना ही इसका मुख्य उद्देश्य है लोग शिव शिष्य परिवार के माध्यम से जुड़ने मात्र से ही जन कल्याण सम्भव है।मुख्य अतिथि भईया धनन्जय ने कहा 1982 ई से पहले ही हरिद्रानन्द ने लोगों से कहा था कि शिव को अपना गुरु बनाइये।गुरु का मतलब था जो साक्ष्य हो जो दिखता हो और कान में मन्त्र दे सके।लेकिन अब न दिखने वाले साक्ष्य भगवान शिव को गुरु मानने मात्र से ही जीवन का कल्याण सम्भव है।सचमुच शिव शिष्य की सदस्यता ही आत्मा से परमात्मा का मिलन है।गुरु कभी शिष्य को अकेले नही छोड़ते जबकि आत्मा भी शरीर का त्याग कर देती है।जो व्यक्ति शिव को अपना गुरु मान ले तो उसका जीवन सफल हो जाता है।उन्होंने यह भी कहा कि जब मंदिर में लोग पूजा करने जाते हैं तो उनका झुकाव भगवान के प्रति न हो कर मनोकामना के प्रति होता है।आगे उन्होंने आज समाज मे तेजी से फैल रहे अफवाह के बारे में कहा कि आप ओझा गुनी डायन भूत के चक्कर मे न पड़ें ।अगर आपको पड़ना ही है तो शिव को अपना गुरु बनाएं उनके नाम मात्र से ही सारा भूत बैताल भाग जायगा।मैं मंच के माध्यम से उनलोगों से कहना चाहूंगा कि शिव शिष्य के नाम अपनी झाड़ फूक की दुकान न चलायें।मौके पर गुरु भाई कमलदेव जी,सागर जी ,अजित जी,श्यामलाल गोस्वामी, लक्ष्मण प्रसाद,विजय गुप्ता,प्रदीप यादव,अजय सिंह,संतोष पासवान सहित सैकड़ों की संख्या में शिव शिष्य परिवार उस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WhatsApp chat