LIVE24X7

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्रपति के अभिभाषण के लिए प्रस्ताव पर लोकसभा को संबोधित किया

रत्नेश कुमार

लोकसभा में अभिभाषण पर संबोधन के दौरान पीएम मोदी ने कांग्रेस पर हमला बोला।पीएम मोदी ने यूपीए सरकार पर आरोप लगाया कि अगर इनकी सोच और गति से चलते तो न राम मंदिर का मसला सुलझता और न ही जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 हटता। पीएम मोदी ने कांग्रेस सरकार पर तंज कसा और कहा कि हम भी आप लोगों के रास्ते पर चलते,तो राम जन्मभूमि आज भी विवादों में रहती। आपकी ही सोच अगर होती, तो करतापुर साहिब कोरिडोर कभी नहीं बन पाता। लोकसभा में पीएम मोदी के संबोधन की खास बातें… आर्टिकल 370 नहीं हटता,राम जन्मभूमि का विवाद न सुलझता पीएम मोदी ने कांग्रेस सरकार पर तंज कसा और कहा कि हम भी आप लोगों के रास्ते पर चलते,तो शायद 70 साल के बाद भी इस देश से अनुच्छेद 370 नहीं हटता।

आपके ही तौर तरीके से चलते, तो मुस्लिम महिलाओं को तीन तलाक की तलवार आज भी डराती।उनन्होंने कहा कि आपकी ही सोच के साथ चलते तो राम जन्मभूमि आज भी विवादों में रहती।आपकी ही सोच अगर होती,तो करतापुर साहिब कोरिडोर कभी नहीं बन पाता। आपके ही के तरीके होते,आपका ही रास्ता होता,तो भारत-बांग्लादेश विवाद कभी नहीं सुलझता।  कांग्रेस सरकार पर तंजकांग्रेस सरकार पर तंज कसते हुए पीएम मोदी ने कहा कि अगर कांग्रेस के रास्ते हम चलते,तो 50 साल बाद भी शत्रु संपत्ति कानून का इंतजार देश को करते रहना पड़ता। 35 साल बाद भी नेक्स्ट जनरेशन लड़ाकू विमान का इंतजार देश को करते रहना पड़ता। 28 साल बाद भी बेनामी संपत्ति कानून लागू नहीं हो पाता। राहुल के डंडे वाले बयान पर पीएम मोदी का तंजलोकसभा में पीएम मोदी ने राहुल गांधी का नाम लिए बिना उनके एक बयान का जिक्र किया। पीएम मोदी ने कहा कि मैंने कांग्रेस के एक नेता का कल वक्तव्य सुना कि 6 महीने में मोदी को डंडे मारेंगे।ये काम थोड़ा कठिन है, तो तैयारी में 6 महीने लगते ही हैं।मैंने भी तय किया है कि 6 महीने में सूर्य नमस्कार की संख्या बढ़ा दूंगा। उन्होंने कहा कि 20 साल से मैंने जिस प्रकार से गंदी गाली सुनकर खुद को गालीप्रूफ बना दिया है तो, 6 महीने ऐसी मेहनत करूंगा की मेरी पीठ को हर डंडा सहने की ताकत मिले। राहुल पर तंज कसते हुए कहा कि 35 मिनट से बोल रहा हूं लेकिन अब जाकर करंट लगा है।  संविधान के मुद्दे पर पीएम मोदी का विपक्ष पर हमलापीएम मोदी ने संविधान को लेकर कांग्रेस पर हमला बोला।पीएम मोदी ने कहा कि आपातकाल कौन लाया?न्यायपालिका को किसने रौंदा?संविधान में सबसे अधिक संशोधन कौन लाया है? किसने अनुच्छेद 356 को सबसे अधिक लागू किया? जिन लोगों ने उपरोक्त कार्य किये हैं, उन्हें हमारे संविधान का गहन ज्ञान प्राप्त करने की आवश्यकता है। कैबिनेट ने एक प्रस्ताव पारित किया हो और उस प्रस्ताव को प्रेस कॉन्फ्रेंस में फाड़ देने वाले लोगों को संविधान बचाने की शिक्षा लेना बहुत जरूरी है।पीएम मोदी ने कहा कि जिन्होंने लोगों से जीने का कानून छीनने की बात कही थी, उन्हें बार-बार संविधान बोलना भी पड़ेगा, पढ़ना भी पड़ेगा।जो लोग सबसे ज्यादा बार संविधान को बदलने का प्रस्ताव लाए हैं,उन्हें संविधान बचाने की बात करनी ही पड़ेगी।  हमने तेज गति से काम कियापीएम मोदी ने कहा कि हमने जिस तेज गति से काम किया है। उसका परिणाम है कि देश की जनता ने इसे देखा और देखने के बाद।उसी तेज गति से आगे बढ़ने के लिए हमें फिर से सेवा का मौका दिया।अगर ये तेज गति न होती तो 37 करोड़ लोगों के बैंक अकाउंट इतनी जल्दी नहीं खुलते। अगर गति तेज न होती तो 11 करोड़ लोगों के घरों में शौचालय न बनते। 13 करोड़ गरीब लोगों के घर में गैस का चूल्हा नहीं पहुंचता। 2 करोड़ नए घर गरीबों के लिए नहीं बनते। लंबे समय से अटकी दिल्ली की 1,700 कॉलोनियों को नियमित करने का काम पूरा न होता। देश चुनौतियों से लोहा लेने के लिए हर पल कोशिश करता रहा है।पीएम मोदी ने कहा कि कोई इस बात से इनकार नहीं कर सकता कि देश चुनौतियों से लोहा लेने के लिए हर पल कोशिश करता रहा है। कभी कभी चुनौतियों की तरफ न देखने की आदतें भी देश ने देखी है।चुनौतियों को चुनने का सामर्थ्य नहीं, ऐसे लोगों को भी देखा है। लेकिन आज दुनिया की भारत से जो अपेक्षा है, हम अगर चुनौतियों को चुनौती नहीं देते, अगर हम हिम्मत नहीं दिखते और अगर हम सबको साथ लेकर चलने की गति नहीं दिखाते तो हमें लंबे अरसे तक समस्याओं से जूझना होता। महंगाई नियंत्रित रही है- पीएम मोदीपीएम मोदी ने लोकसभा में कहा कि कुछ माननीय सदस्य कहते हैं कि ये काम क्यों नहीं हुआ, कब तक करेंगे, कब होगा, कैसे होगा। तो कुछ लोगों को लगता है कि आप आलोचना करते हैं, लेकिन मुझे नहीं लगता कि आप आलोचना करते हैं। मुझे खुशी है कि आप मुझे समझते हैं, आपको भी पता है कि करेगा तो ये ही करेगा।उन्होंने आगे कहा कि हमने समस्याओं के समाधान खोजने का लगातार प्रयास किया है और उसी का परिणाम है कि अर्थव्यवस्था में राजकोषीय घाटा बनी रही है।महंगाई नियंत्रित रही है और मैक्रो-इकोनॉमिक स्टेबिलिटी भी बनी रही है।  पीएम फसल बीमा योजना से किसानों में विश्वास बढ़ाहम जानते हैं कि डेढ़ गुना एमएसपी का विषय लंबे समय से अटका था।ये किसानों के प्रति हमारी जिम्मेदारी थी कि हमने उसे पूरा किया।वर्षों से लटकी करीब 99 सिंचाई परियोजनाओं पर 1 लाख करोड़ रुपये से ज्यादा खर्च करके पूरा किया और अब किसानों को उसका लाभ मिल रहा है। पीएम मोदी ने कहा कि पीएम फसल बीमा योजना से किसानों में एक विश्वास पैदा हुआ है।इस योजना के अंतर्गत किसानों से करीब 13 हजार करोड़ रूपये का प्रीमियम आया। लेकिन प्राकृतिक आपदा के कारण किसानों को जो नुकसान हुआ,उसके लिए किसानों को करीब 56 हजार करोड़  इस बीमा योजना से प्राप्त हुए। देश को दिशा देने वाला अभिभाषणराष्ट्रपति के अभिभाषण पर पीएम मोदी ने कहा कि यह देश को दिशा देने वाला अभिभाषण है। लोकसभा में पीएम मोदी ने कहा कि माननीय राष्ट्रपति जी ने न्यू इंडिया का विजन अपने अभिभाषण में प्रस्तुत किया है। 21वीं सदी के तीसरे दशक का माननीय राष्ट्रपति जी का वक्तव्य हम सभी को दिशा व प्रेरणा देने वाला और देश के लोगों में विश्वास पैदा करने वाला है। लोगों ने सरोकार बदलने की भी इच्छा रखी हैपीएम मोदी ने कहा कि लोगों ने सिर्फ एक सरकार बदली है, केवल ऐसा नहीं है।बल्कि सरोकार भी बदलने की अपेक्षा की है।इस देश की एक नई सोच के साथ काम करने की इच्छा और अपेक्षा के कारण हमें यहां आकर काम करने का अवसर मिला है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WhatsApp chat