बालाघाट:खनिज मंत्री प्रदीप जायसवाल ने छात्रावास भवन निर्माण के लिए किया भूमिपूजनवारासिवनी कालेज में 2.20 करोड़ रुपये की लागत से बनेगा पोस्ट मैट्रिक कन्या छात्रावास भवन.

आनंद रोडगे

वारासिवनी।मध्यप्रदेश शासन के खनिज साधन मंत्री प्रदीप जायसवाल ने आज 22 फरवरी को वारासिवनी कालेज परिसर में बनने वाले 50 सीटर आदिवासी कन्या छात्रावास भवन निर्माण हेतु भूमिपूजन किया।गौरतलब है कि वारासिवनी के शासकीय कालेज परिसर में अनुसूचित जनजाति वर्ग की छात्राओं के लिए 2 करोड़ 20 लाख 80 हजार रुपये की लागत से 50 सीटरछात्रावास बनाया जायेगा।1070 वर्ग मीटर क्षेत्र में बनने वाले इस भवन के भूतल पर वार्डन कक्ष,डायनिंग हाल,शौचालय एवं 9 कक्ष बनाये जायेंगें।भवन के प्रथम तल पर 16 कक्ष बनाये जायेंगें। इस भवन के निर्माण के लिए 08 माह की समय सीमा तय की गई है।वारासिवनी कालेज में महानगरों के जैसे शिक्षा की सुविधाए उपलब्ध कराई जाएगी:मंत्री जायसवालकार्यक्रम के मुख्य अतिथि खनिज मंत्री प्रदीप जायसवाल ने कार्यक्रम में उपस्थित छात्र-छात्राओं को संबोधित करते हुए कहा कि देश के बड़े शहरों एवं महानगरों में शिक्षा की जैसी सुविधायें उपलब्ध है,वैसी ही तमाम सुविधायें वारासिवनी के कालेज में भी उपलब्ध कराई जायेगी।वारासिवनी के कालेज को शिक्षा के मामले में एक नई पहचान दिलाने का प्रयास किया जायेगा।जिससे वारासिवनी क्षेत्र के विद्यार्थियों को अच्छी उच्च शिक्षा मिलेगी और वे इस क्षेत्र का नाम रोशन करने में सक्षम बनेंगें।वारासिवनी क्षेत्र की जनता ने उन पर अपना विश्वास जताया है और चुनाव में विजयी बनाकर विधानसभा भेजा है। वारासिवनी क्षेत्र के किसी विधायक को पहली बार प्रदेश सरकार में मंत्री बनने का अवसर मिला है।मंत्री बनने के बाद अपने क्षेत्र के विकास के प्रति उनकी जवाबदारी और अधिक बढ़ गई है और वे वारासिवनी क्षेत्र की जनता की अपेक्षाओं पर खरा उतरने का पूरा प्रयास करेंगें।वारासिवनी के कालेज में शिक्षा की हर सुविधायें उपलब्ध कराने का प्रयास किया जायेगा।जिससे इस कालेज से पढ़ कर निकलने वाले छात्र-छात्रायें देश सेवा में योगदान देने के साथ वारासिवनी क्षेत्र का नाम रोशन कर सकेगें।खनिज मंत्री जायसवाल ने कहा कि वारासिवनी कालेज की समस्यायें उनके संज्ञान में है।इस कालेज में एक हाल एवं 4 अतिरिक्त कक्षो के निर्माण के लिए 70 लाख रुपये की राशि मंजूर कर दी गई है और यह कार्य शीघ्र ही प्रारंभ होगा। कालेज में जिन संकायों में एमएससी की कक्षायें नहीं है,उन्हें चालू कराने का भी प्रयास किया जा रहा है।खनिज मंत्री ने कहा कि कालेज में हर तरह की सुविधायें सुलभ कराने की जवाबदारी हमारी है। छात्र-छात्राओं की भी जवाबदारी है कि वे अपने माता-पिता की अपेक्षाओं के अनुरूप लक्ष्य तय कर पढ़ाई करें और अपना भविष्य उज्जवल बनाने का प्रयास करें।उन्होंने छात्र-छात्राओं से कहा कि पढ़ाई के साथ ही खेल-कूद एवं सांस्कृतिक क्षेत्र मे भी आगे बढ़े और वारासिवनी क्षेत्र का नाम चमकायें। उन्होंने कालेज स्टाफ से भी कहा कि वे कालेज की समस्याओं एवं आवश्यकताओं से उन्हें निरंतर अवगत कराते रहें।उनका प्रयास होगा कि इस कालेज में हर तरह की सुविधा उपलब्ध रहे।इस दौरान खनिज मंत्री प्रदीप जायसवाल ने छात्रावास भवन की निर्माण एजेंसी के अधिकारियों से कहा कि वे छात्रावास का निर्माण कार्य निर्धारित 8 माह की अवधि में गुणवत्ता के साथ पूर्ण करायें।इस छात्रावास के बनने से वारासिवनी के आसपास के क्षेत्रों की अनुसूचित जनजाति वर्ग की छात्राओं को उच्च शिक्षा के लिए आवास की सुविधा के लिए परेशान नहीं होना पड़ेगा।     भूमिपूजन कार्यक्रम में यह रहे उपस्थितभूमिपूजन कार्यक्रम में जिला पंचायत सदस्य श्रीमती मेघा किशोर बिसेन, कालेज की प्राचार्य,कांग्रेस युवा ब्रिगेड से मिलिंद नगपुरे,संतोष आड़े,विनोद मिश्रा,अमित येरपुड़े,संदीप मिश्रा विनय सुराना एसडीएम संदीप सिंह लोक निर्माण विभाग परियोजना क्रियान्वयन ईकाई के कार्यपालन यंत्री आर के हनुमते कालेज के शिक्षिक, शिक्षिकायें एवं छात्र-छात्रायें उपस्थित थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WhatsApp chat