बिहार सरकार घोट रही है उर्दू का गला- तारिक फतह।

 

 

बरुण कुमार:—

 

 

जहानाबाद प्रखंड के सुगाँव में उर्दू के प्रेमियो ने ऑल इंडिया तंजीम ए इंसाफ के बैनर तले एक बैठक कर लोगो ने जल्द बिहार सरकार के खेलाफ बड़ा मोर्चा खोलने का फैसला लिया।

कॉमरेड तारिक फतह ने बताया के उर्दू प्रेमयू में काफी नाराजगी है के बिहार सरकार उर्दू के साथ सौतेला व्यवहार कर रही है। जिसे कतय बर्दास्त किया नही जा सकता है। जैसे ही बिहार सरकार के लेटर संख्या 799 जारी किया गया उसके बाद लोगों में नाराजगी पैदा हो गए। जिसके बाद शनिवार के दिन सुगाँव में कॉमरेड तारिक फतह के आवस पर उर्दू प्रेमियों ने एक बैठक आयोजित की जिसमें सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए

लोगों ने सरकार के इस दोहरे नीति के खेकफ जन आंदोलन चलाने की बात कही। साथ ही यह भी कहा के अगर हुकूमत उर्दू का पिछले नियम के अनुसार ही उर्दू का वकार बहाल किया जाए। बताते चलें कि लेटर नंबर 799 में बिहार सरकार ने उर्दू को अब कंपलसरी पेपर ना मानकर ऑप्शनल पेपर के रूप में मान कर चल रही है। उर्दू प्रेमियों का मानना है के उर्दू बिहार की दूसरी मातृभाषा है जिसे ऑप्शनल पेपर ना रखकर कंपलसरी पेपर में रखा जाए। इस मौके पर प्रोफेसर खान रिजवान ने कहा के बिहार की तारीख में किसी हुकूमत ने उर्दू के साथ ऐसा मुजरिमाना रवैया नहीं किया था अगर नीतीश सरकार लेटर नंबर 799 जो दिनांक 15 मई 2020 को जारी किया गया है वापस नहीं लिया और उर्दू को कंपलसरी जुबान के तौर पर बहाल नहीं किया गया तो ऑल इंडियातंजीम ए इंसाफ के बैनर तले एक तहरीक चलाई जाएगी। इस मौके पर कायनात इंटरनेशनल स्कूल के चेयरमैन सकील ककवी, राजद की प्रदेश उपाध्यक्ष शाहीन तारीख, जहाँगीर आलम, राजद के प्रदेश महासचिव सारिक फतह, हिमायूँ खान, छोटन खां, जफर आलम, हाफिज सादाब सहित कई उर्दू प्रेमयो ने हिस्सा लिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WhatsApp chat