LIVE24X7

बैशाखी ट्राईसाईकिल नहीं मिलने से परेशान हैं दिब्यांग .

कुमार सावन की रिपोर्ट:-लातेहार

चलने फिरने में हो रही है काफी परेशानी।

माकपा नेता दिब्यांगो से मुलाकात कर उनका दर्द जाना।

दिब्यांगता प्रमाण पत्र नहीं बनने से कई सुविधाओं से वंचित हैं दिब्यांग।

चंदवा/लातेहार:-स्वामी विवेकानंद नि:शक्त स्वावलंबन योजना के तहत मिलने वाले बैशाखी व ट्राई साईकिल के सुविधाएं से महरूम हैं दिब्यांग, माकपा के पुर्व जिला सचिव अयुब खान ने दिब्यांग गोपी गंझु, ललकु गंझु, प्रदीप यादव से मुलाकात कर उनका हाल जाना, समस्याओं के अवगत हुए, अयुब खान ने कहा है कि सरकारी सिस्टम इतना बेदर्द हो चुका है कि उसे जिले के दिव्यांगों की कतई चिता नहीं है।सरकारी मदद से मिलने वाली ट्राई साइकिल बैशाखी के लिए जिले के दिव्यांग परेशान हैं,यूं तो केंद्र से लेकर प्रदेश सरकार दिव्यांगों को लेकर ज्यादा गंभीर नजर आती है।प्रदेश सरकार की भी स्पष्ट निर्देश हैं

कि दिव्यांगजनों की हर संभव मदद होनी चाहिए।सरकारी बैशाखी व ट्राई साइकिल भी दिया जाना सुनिश्चित हो, लेकिन सहारे के लिए दिब्यांगो को बैशाखी तक नसीब नहीं हैं।सरकार के इन निर्देशों के बाद भी दिव्यांगजनों का कोई दर्द समझाने वाला नहीं है।दिव्यांगता का प्रमाणपत्र होने के बाद भी दिब्यांगों कि यह स्थिति है। बैशाखी व ट्राई साइकिल नहीं होने से दिब्यांग काफी परेशान हैं, चलने फिरने में उन्हे काफी दिक्कत हो रही है, इसके बाद भी आज तक बैशाखी व ट्राई साइकिल उन्हें नहीं मिली है।वहीं दिब्यांगता प्रमाण पत्र प्रखंड स्तर पर नहीं बनने से दिब्यांग काफी परेशान, दिब्यांग होने के बाद भी उनका दिब्यांगता प्रमाण पत्र नहीं बन पा रहा है,इससे वे सरकारी सुविधाओं से लगातार वंचित हो रहे हैं।अयुब खान ने आगे कहा है,कि कई माह से विकलांगों के खाते में नहीं आ रहा पेंशन,जिले के दिव्यांगों के खाते में छह सात माह से पेंशन नहीं आ रहा है, जिससे उनकी की स्थिति दयनीय हो गई है।स्वामी विवेकानंद नि:शक्त स्वावलंबन योजना के तहत प्रत्येक लाभुक को प्रतिमाह एक हजार रूपये विकलांग पेंशन दिया जाता है।जिससे विकलांग अपना और अपने परिवार का भरण-पोषण करते हैं, ऐसे में कई माह से पेंशन की राशि उनके खाते में नहीं आने से उनके बीच भरण पोषण कि बड़ी समस्या उत्पन्न हो गई है,अयुब खान ने उपायुक्त जिशान कमर व जिला समाज कल्याण अधिकारी से तत्काल इन दिब्यांगो को बैशाखी व ट्राई साइकिल उपलब्ध कराने एवं जिले में प्रखंड स्तर पर शिविर लगाकर दिब्यांगो के बीच बैशाखी व ट्राई साईकिल वितरण कराए जाने, दिब्यांगता प्रमाण बनाने की मांग की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WhatsApp chat