भागलपुर: निर्दलीय प्रत्यासी ब्लैक बोर्ड से अभय कुमार नाथनगर उपचुनाव में बड़ी पार्टियों को दे रहे कड़ी टक्कर ।

प्रिन्स कुमार

भागलपुर :-नाथनगर विधानसभा उपचुनाव में ब्लैक बोर्ड प्रत्याशी अभय कुमार ने सोमवार को पत्रकारों से बातचीत में बताया कि चुनाव की तारीख नजदीक आ रही है वैसे-वैसे जनसमर्थन उनके प्रति बढ़ता जा रहा है, एनडीए उम्मीदवार लक्ष्मी मंडल परेशान है ,जबकि राजद उम्मीदवार राबिया ख़ातून के भी होश उड़े हुए है ।अपने बातों के द्रव्यमान में बताते हुए अभय कुमार ने कहा किनिर्दलीय उम्मीदवार होने के बावजूद हमें एकजुट सभी वर्गों का समर्थन मिल रहा है। ज्ञात हो कि अभय कुमार वर्तमान में सबौर प्रखंड प्रमुख हैं । अपने कामों के प्रति वो कभी लापरवाह नहीं रहते। जनता के कामों को करने में हमेशा आगे रहते हैं ।इन्होंने शिक्षकों के प्रति काफी अच्छा काम किया है । सौचालय के मुद्दे पर हमेशा जनता के लिए आवाज उठाते रहे है, इसके लिए जनता के बीच काफी अच्छी छवि बनी हुई है ।

साथ ही साथ जिले के सभी वर्ग के लोग व युवा उनके लिए कैंपेन में लागातर लगे हुए है।ब्लैक बोर्ड प्रत्याशी अभय कुमार का नाथनगर विधानसभा के विभिन्न गांवों में जनसंपर्क जारी हैं। जनसंपर्क के दौरान स्थानीय जनता-जनार्दन से मिले उत्साह पूर्वक, प्रेम एवं अपार समर्थन से मन अभिभूत है। आपकी स्नेह आपका आशीर्वाद आपका प्यार यूही बना रहे यही कामना करता हूँ , बैजलपुर पंचायत के शिवाईडीह ,पड़गड़ी पंचायत के अलंग, बैजनाथपुर,आदि गांव का दौरा किया। उनके साथ राकेश यादव सहित कई युवा ग्रामीण मिलकर जिताने की अपील कर रही है। आज अभय कुमार ने अपने समर्थकों के साथ नाथनगर विधानसभा क्षेत्र के विभिन्न इलाकों का दौरा कर लोगों से 12 साल बनाम आठ माह के लिए जन समर्थन मांगा ।

क्षेत्र भ्रमण के दौरान अभय कुमार ने लोगों से एक बार मौका देने की अपील कर रहे हैं, सामाजिक न्याय के समीकरण, क्षेत्र में व्याप्त भ्रष्टाचार रंगदारी विकास कार्यों में भाई भतीजावाद को समाप्त करने के नारे के साथ यह लोगों से ब्लैक बोर्ड छाप पर बटन दबाने की भी अपील कर रहे हैं। क्षेत्र भ्रमण के दौरान पत्रकारों से बातचीत करते हुए उमेश कुमार सिंह ने कहा कि उनका मुकाबला किसी व्यक्ति विशेष किसी दल विशेष से नहीं बल्कि उन सभी तत्वों से है जिन्होंने क्षेत्र के विकास को अवरुद्ध किया है। अपना जेब भरा है लोगों को पगलाया है ,अपराध को बढ़ावा दिया है, युवाओं को अपराधी बनाया है । क्षेत्र के विकास मॉडल को रंगदारी मॉडल के रूप में बदला है । सूत्रों पर यकीन करें तो क्षेत्र की जनता से मिल रहे अपार जन समर्थन को देखते हुए लगता है। कि इस बार यहां की जनता शासक नहीं सेवक चुनेगी।अब यह तो चुनाव के बाद ही पता चलेगा पर इतना तय है, कि एनडीए,राजद को वो कड़ी टक्कर देने में लागातर कामयाब हो रहे हैं ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WhatsApp chat