LIVE24X7

मधुबनी: जिला पदाधिकारी की अध्यक्षता में बाल विकास सेवा परियोजना से संबंधित समीक्षा बैठक का आयोजन

ए .बी .सिद्दीकी ब्यूरो

मधुबनी:—- शीर्षत कपिल अशोक, जिला पदाधिकारी, मधुबनी की अध्यक्षता में समाहरणालय स्थित सभाकक्ष, मधुबनी में शनिवार को बाल विकास सेवा परियोजना से संबंधित विभिन्न कार्यो की प्रगति से संबंधित समीक्षा को लेकर बैठक का आयोजन किया गया। बैठक में डाॅ0 रश्मि वर्मा, जिला प्रोग्राम पदाधिकारी, मधुबनी, सुशीला कुमारी, बाल विकास परियोजना पदाधिकारी, बेनीपट्टी, ज्योति सिन्हा, बाल विकास परियोजना पदाधिकारी, लदनियां, प्रिती कुमारी, बाल विकास परियोजना पदाधिकारी, बिस्फी, किरण कुमारी, बाल विकास परियोजना पदाधिकारी, रहिका, शशि प्रभा अग्रवाल, बाल विकास परियोजना पदाधिकारी, पंडौल एवं अन्य बाल विकास परियोजना पदाधिकारी तथा महिला पर्यवेक्षिका तथा रामपृत पासवान, लिपिक समेत अन्य पदाधिकारीगण उपस्थित थे।बैठक में जिला पदाधिकारी, मधुबनी के द्वारा सभी बाल विकास परियोजना पदाधिकारियों से सेविका/सहायिका चयन में पूर्णरूपेण पारदर्शिता बरतने तथा विभागीय दिशानिदेश के आलोक में कार्रवाई करने का निदेश दिया गया। साथ ही चयन से संबंधित मामलों में आये आवेदनों का त्वरित गति से निष्पादन कर संबंधित आवेदक को कृत कार्रवाई से अवगत कराने का भी निदेश दिया गया। बैठक में कई बाल विकास परियोजना पदाधिकारी द्वारा वार्ड सदस्य के द्वारा सूचना पंजी पर हस्ताक्षर नहीं किये जाने का मामला आया। जिला पदाधिकारी, मधुबनी के द्वारा वैसे वार्ड पार्षदों से जिला पंचायती राज पदाधिकारी, मधुबनी के माध्यम से स्पष्टीकरण पूछने का निदेश दिया गया। साथ ही मैंपिंग में बाहुल्य वर्ग से संबंधित विवादित मामलों की जिला स्तर से टीम गठित कराकर पुनः मैंपिंग कराने का निदेश दिया गया। उन्होंने जिले में सहायिका के चयन की स्थिति काफी धीमी देख,सभी महिला पर्यवेक्षिका से रिक्त आंगनवाड़ी केन्द्र की सहायिकाओं की चयन नहीं होने से संबंधित कारणों के साथ प्रतिवेदन परियोजनावार देने का निदेश दिया। सभी बाल विकास परियोजना पदाधिकारी को अपने-अपने परियोजना में माॅडल आंगनवाड़ी हेतु चयनित केन्द्रों को एक माह के अंदर माॅडल केन्द्र बनाने का निदेश दिया गया। साथ ही सभी चयनित आंगनवाड़ी केन्द्रों पर शौचालय बनाये जाने हेतु आंगनवाड़ी सेविका को एजेंसी बनाने हेतु निदेश दिया गया। अक्टूबर माह में टी0एच0आर0 वितरण की प्रगति देख संतोष व्यक्त किया गया। जिला पदाधिकारी, मधुबनी के द्वारा विभिन्न श्रोतों से प्राप्त जन शिकायत की जांच कर शीघ्र निष्पादन करने का निदेश दिया गया। उन्होंने सभी बाल विकास परियोजना पदाधिकारी को निर्धारित अवधि में शत-प्रतिशत आंगनवाड़ी केन्द्रों को खोलने का तथा बंद पाये जाने की स्थिति में संबंधित बाल विकास परियोजना पदाधिकारी पर कार्रवाई करने का निदेश दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WhatsApp chat