मां अम्बे को लाने के लिए मैया की पालकी के साथ निकला श्रद्धालुओं का ताता ।

हर खबर आप तक

Live24x7रिपोर्टर आमिर आजाद

मधेपुरा के सिंहेश्वर में सार्वजनिक दुर्गा पूजा और सिंहेश्वर मंदिर न्यास समिति के दुर्गा मंदिर से मां अम्बे को लाने के लिए मैया की पालकी के साथ श्रद्धालुओं का हुजम सुबह 9 बजे निकला. शनिवार को 9 बजे सुबह सार्वजनिक दुर्गा मंदिर से भारी संख्या में श्रद्धालुओं की टोली मैया के पालकी के साथ ढोल, बाजे, नगाड़े के साथ नाचते गाते बिष्णु शर्मा के घर पहुंची. वहां स्थित बेल के पेड़ पर उस जुड़वां बेल को जिसे कल विधिवत निमंत्रण दिया था और जिसका देवदत्त शर्मा ने विधिवत पूजन कर मैया को निमंत्रण दिया था. आज जब मैया को लाने के लिए सार्वजनिक दुर्गा पूजा मंदिर से पालकी निकली तो उसमें शामिल होने के लिए पुरूष और महिलाओं का हुजूम मैया के बुलावे में शामिल था. वहीं मैया की पालकी जब वहां से निकली तो उसकी एक झलक पाने के लिए श्रद्धालुओं में होड़ लगी रही. बच्चें, बूढ़े और जवान सभी में मैया के बेलतोरी कार्यक्रम में शामिल होने के लिए होड़ सी मची रही. मैया की पालकी वहां से महावीर चौक होते हुए दुर्गा स्थान पहुंची, जहाँ उसका विधिवत पूजन और आरती हुआ लेकिन मैया का पट रात में निशा पूजा के बाद ही खोला जाएगा. इस बावत अध्यक्ष जनार्दन भगत ने बताया कि निशा पूजा में लगभग 4 हजार मैया भक्त शामिल होंगे. जहाँ अष्टमी-नवमीं को लगभग 10 हजार महिलाएं मैया का खौचा भरेगी.

भीड़ को देखते हुए मंदिर प्रशासन ने अपने कार्यकर्ताओं को बैच लगाकर सजग और सतर्क रहने के लिए कहा. मौके पर दिनेश यादव, शंकर शर्मा, पवन भगत, दिलिप खंडेलवाल, अरूण भगत, अशोक भगत -3, किष्णु शर्मा, शंकर शर्मा, लेखराज कुमार, हरिओम चौधरी, दिनेश शर्मा, गजेंद्र यादव, शंकर चौधरी, राम कुमार भगत, मनोज कुमार भगत, इंद्र देव स्वर्णका

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WhatsApp chat