मेयर और डिप्टी मेयर के खिलाफ बुधवार को अविश्वास प्रस्ताव पेश किया जाएगा।

इसे लेकर नगर निगम प्रशासन की तरफ से पूरी तैयारी कर ली गयी है। नगर निगम सभागार में सुबह 11 बजे प्रस्ताव पेश किया जाएगा। निगम प्रशासन द्वारा बैलेट पत्र और बॉक्स की व्यवस्था भी की गयी है, ताकि जरूरत पड़ने पर इस्तेमाल किया जा सके।अविश्वास प्रस्ताव पेश होने के बाद चर्चा होगी। उसके बाद गिरेगा या प्रस्ताव पास हो जायेगा। ये सारी बातें पार्षदों की संख्या बल पर निर्भर करेगा। प्रस्ताव को पेश करने के लिए पार्षदों की कुल संख्या का एक तिहाई यानी 17 पार्षदों की उपस्थिति अनिवार्य होगी। अगर प्रस्ताव पेश करने में इससे कम पार्षद रहे तो प्रस्ताव को गिरा मान लिया जाएगा। पेश करने वाले पार्षदों की संख्या पर्याप्त हुई तो उसके बाद प्रस्ताव पर चर्चा कराने के लिए कुल पार्षदों (एक पार्षद की मौत के बाद पार्षदों की संख्या 50 रह गयी है) के टू फिफ्थ यानी 20 पार्षदों की उपस्थिति अनिवार्य है। इतने नहीं रहे तो चर्चा भी नहीं हो सकेगी। प्रस्ताव पेश होने के बाद चर्चा भी हो गयी और वोटिंग की स्थिति उत्पन्न हो गयी तो प्रस्ताव के पक्ष में बहुमत आने पर मेयर और डिप्टी मेयर की कुर्सी जायेगी या प्रस्ताव के विरोध में बहुमत आया तो दोनों की कुर्सी बरकरार रहेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WhatsApp chat