शंभु सदाय हत्या मामले में प्राथमिकी दर्ज , चार नामजद सहित अन्य आठ – दस आरोपित .

 

नामजद सभी चार आरोपी गिरफ्तार 

 

केवटी शंभु सदाय हत्या  मामले में उसके मां मोसोमात रामरती देवी के आवेदन पर केवटी थाना में हत्या की प्राथमिकी ( 133/ 20 ) दर्ज की गई है। इसमें इटहरवा गांव के जीवछ सहनी, कारी सहनी एवं जीवछ के पुत्र बेचन सहनी व मनोज सहनी को नामजद एवं अन्य आठ से दस लोगों को आरोपित किया गया है । थानाध्यक्ष शिव कुमार यादव ने त्वरित कार्रवाई करते हुए जीवछ, कारी व बेचन एवं मनोज सभी चारों को गिरफ्तार कर लिया है। प्राथमिकी में मृतक की मां ने बताया है कि उनका पुत्र शंभु अपने साथियों गांव के ही बेचन सदाय व धनिक सदाय एवं चंदन सदाय तीनों के साथ शनिवार की रात करीब आठ बजे मछली पकड़ने के लिए घर से निकला था जो पाराडीह और इटहरवा के बीच ( इटहरवा – जेठियाही चौर ) पानी भरे घान के खेत में मछली पकड़ रहा था । इसीक्रम में रात्री के करीब बारह बजे लाठी – डंडे सै लैस उपरोक्त चारों लोगों के अलावा अन्य आठ – दस लोगों ने मेरे पुत्र और पुत्र के सभी तीन साथियों को खदेरना शुरू कर दिया । इसमें से उसके तीनों साथी भागकर घर आ गया , परंतु शंभु पीछे छुट गया । जिसे लोगों ने पकड़ लिया और उसे मारना – पीटना शुरू कर दिया । जब शंभु के तीनों साथियों ने पिछे मुड़कर टार्च जलाया तो देखा कि जीवछ, कारी व जीवछ के पुत्र बेचन एवं मनोज और अन्य लोग शंभु को लाठी – डंडे से पीट रहा है । घर आने पर इसकी सूचना मुझे दी तो अपने पुत्र अनील सदाय एवं अन्य लोगों के साथ उसकी खोजबीन शुरू कर दी । खोजबीन के क्रम में जीवछ सहनी के घर पहुंचकर शंभु के संबंध में पूछा तो वह बोला कि वे रात में ही नौवागाछी जेठियाही सीमा तक खदेड़कर उसे भगा दिया था। काफी खोजबीन करने पर पुत्र शंभु को मृत अवस्था में डाॅ.सीता राम के खेत के समीप पाया । प्राथमिकी में रामरती देवी ने बताया कि जीवछ, कारी , बेचन व मनोज ने अन्य लोगों के साथ मिलकर मेरे पुत्र शंभु की हत्या लाठी – डंडे से पिटकर कर दिया है और साक्ष्य छुपाने की नियत से उसके शव को फेक दिया ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WhatsApp chat