श्रीमद भागवत ज्ञान यज्ञ सप्ताह कथा के तृतीय दिवस के अवसर पर कथावक्ता पं. साध्वी सुगना दीदी ने नर नारायण अवतार.

मध्यप्रदेश के खण्डवा जिले के नगर पंधाना नगर स्मार्ट सिटी  में चल रही  श्रीमद भागवत ज्ञान यज्ञ सप्ताह कथा के तृतीय दिवस के अवसर पर कथावक्ता पं. साध्वी सुगना दीदी  ने नर नारायण अवतार, वाराह अवतार, रिषभ अवतार, विधुर मैत्री वर्णन की कथा सुनाई।विदेश से आये हुए वायरस जिसका खोफ पुरे भारत वर्ष में बना है क्या उपाय अपनाना चाहिए यह भी कथा के दौरान कहा |  घर-घर यज्ञ-हवन होंगे तो कोरोना वायरस से बचा जा सकता है। प्राचीनकाल में सभी घरों में हवन यज्ञ होते थे। इसलिए पहले इस तरह की कोई खतरनाक बीमारियां नहीं होती थी। यह बात भागवत कथा के दौरान  पंडित साध्वी सुगना दीदी ने अपने मुखारविंद से कहा कि वायु शुद्ध होगी तो मनुष्य स्वस्थ रहेगा। वायु को शुद्ध करने का एक ही उपाय हवन यज्ञ है। यज्ञ में डाला गया पदार्थ कभी नष्ट नहीं होता, यह विज्ञान ने भी सिद्ध कर दिया है। उन्होंने कहा कि पदार्थ नष्ट नहीं होते, अपितु उनका स्वरूप बदलता रहता है। अग्नि में जो भी सुगंधित, पौष्टिक और वायु को शुद्ध करने वाले पदार्थ डाले जाते हैं वह 17 सौ गुणा बढ़ाकर वापस शुद्ध वायु के रूप में मनुष्य को ही प्रदान कर देती है।हमें   हाथों को साबुन से धोना चाहिए | खांसते और छीकते समय नाक और मुंह रूमाल  से ढककर रखें | जिन व्‍यक्तियों में फ्लू के लक्षण हों उनसे दूरी बनाकर रखें | शाहकारी भोजन करे | अंडे और मांस के सेवन से बचें | वेदव्यास जी द्वारा रचित श्रीमद् भागवत महापुराण की कथा मात्र सात दिनों में शुकदेव जी ने राजा परीक्षित को सुना कर उन्हें सद्गति प्रदान किया। इस कलियुग में भागवत कथा श्रवण मानव कल्याण का सर्वोत्तम उपाय है। विश्व का कोई भी ऐसा धर्मग्रन्थ नहीं जो मात्र सात दिनों में मानव को सद्गति प्रदान करें।रंगपंचमी होने से ब्रज की होली खेली गई, भगवान वामन अवतार का भी सचित्र वर्णन एंव झाकी प्रस्तुत की गई, सारा वातावरण ब्रज मय हो गया

चंद्रशेखर महाजनब्यूरोचीफ मध्यप्रदेश

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WhatsApp chat