सदर अस्पताल में लचर हो रही व्यवस्था को लेकर स्वास्थ्य कर्मियों को जमकर लगाई फटकारसदर अस्पताल अधीक्षक को हटाया गया

ब्युरो रिपोर्ट-बरुण कुमार

जहानाबाद सदर अस्पताल की लगातार हो रही शिकायत एबं अराजक हो रही स्थिति पर जिला पदाधिकारी नवीन कुमार ने संज्ञान लेते हुए अधीक्षक अजय कुमार को तुरंत हटाने का निर्देश देते हुए उन्हें छुट्टी पर भेजने का निर्देश जारी किया है। मालूम हो कि पिछले कुछ दिनों के दौरान कई दफे सदर अस्पताल को भगवान भरोसे छोड़ चिकित्सक ड्यूटी से घंटों गायब रहते थे। जिले के सबसे बड़े सरकारी अस्पताल में कुव्यवस्था की सूचना पाकर जिलाधिकारी सोमवार को अचानक सदर अस्पताल पहुंचे। वहां पहुंचने पर उन्होंने अस्पताल में उपलब्ध सुविधाओं का पहले घूम-घूम कर जायजा लिया।

सुबह साढ़े ग्यारह बजे सदर अस्पताल में पहुंचे डीएम ने बारी-बारी से आउटडोर, इंनडोर, अल्ट्रासाउंड कक्ष, जांच कक्ष, ब्लड बैंक, प्रस्रव वार्ड में जाकर वहां की सुविधाओं की स्थलीय जांच कर मरीजों से फीडबैक भी लिया। उन्होंने अस्पताल से अधीक्षक की गैर मौजूदगी पर गहरी नाराजगी जताते हुए सिविल सर्जन डाॅ. विजय कुमार सिन्हा को तुरंत उन्हें छुट्टी पर भेजने का निर्देश दिया। साथ तुरंत अधीक्षक का दायित्व किसी अन्य जिम्मेदार वरीय चिकित्सक को देने का निर्देश दिया। डीएम ने अस्पताल की सफाई व्यवस्था पर भी गहरी नाराजगी जताते हुए आउटसोर्सिंग एजेंसी को सुधार करने के लिए कड़ी चेतावनी दी। उन्होंने कहा कि अस्पताल में आनेवाले मरीजों को इलाज में कोई कोताही नहीं बरती जाए। लापरवाह चिकित्सक एवं कर्मी पर उन्‍होंने कड़ी कार्रवाई के लिए सी एस काे निर्देश दिया।लावरवाह आउटसोर्सिंग एजेंसी की तीस प्रतिशत राशि काटने का निर्णय, दो चिकित्सकों से मांगा गया स्पष्टीकरण,मौके पर सीएस विजय कुमार सिन्हा ने बताया कि सफाई में लापरवाही बरतने पर एजेंसी को भुगतान में 30 फसीदी की कटौती की गई है। वहीं ड्यूटी से गायब रहने वाले दो चिकित्सकों से स्पष्टीकरण की मांग की गई है। कई अन्य चिकित्सकों पर भी कार्रवाई की तैयारी चल रही है।डॉ बीके झा को मिला सदर अस्पताल के अधीक्षक का प्रभारसदर अस्पताल की कुव्यवस्था के बाद अधीक्षक के प्रभार में रहे अजय कुमार को तत्काल हटा दिया गया है। उनके जगह पर वरीय चिकित्सक डॉ. बीके झा को अधीक्षक का चार्ज दिया गया है। इसके पूर्व में भी पांच दिन पूर्व शाम में अस्पताल पहुंचे डीएम को अधीक्षक गायब मिले थे। निरीक्षण में फिर से उनकी अनुपस्थिति को डीएम ने गंभीर बताते हुए उनपर कार्रवाई का निर्णय लिया। औचक निरीक्षण व कार्रवाई से यहां अस्पताल परिसर में निश्चितता व लापरवाही में रहने वाले चिकित्सकों व कर्मियों में हड़कंप है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WhatsApp chat