सदर अस्पताल में हॉस्पिटल प्रबंधक एवं लेखापाल की मौजूदगी नहीं रहने से हुआ काम ठप

(बरुण कुमार की रिपोर्ट)

जहानाबाद सदर अस्पताल से बिना परमिशन के गलत ढंग से बेची जा रही गोदरेज के मामले में पुलिस द्वारा प्राथमिकी दर्ज की गई हैं। अस्पताल में जांच के डर से अस्पताल में अपनी ड्यूटी भी नहीं कर पा रहे हैं। वही मामला सामने आने के बाद अस्पताल प्रबंधक कुणाल भारती एवं लेखापाल गीता कुमारी दो-तीन दिन से अपने ड्यूटी पर नहीं आ रहे है।

वही मामला दर्ज होने के बाद अगले दिन तो अस्पताल प्रबंधक का चेंबर में ताला बंद था। वहीं आज अस्पताल प्रबंधक का दरवाजा खुला है पर अस्पताल प्रबंधक एवं लेखापाल मौजूद नहीं थे। वही कुछ लोगों से पूछे जाने पर बताया कि इसके बारे में हमें कोई जानकारी नहीं है। प्रसव से जुड़ी संबंधित महिला को मिलने वाली प्रोत्साहन राशि भी लाभार्थियों को नहीं मिल पा रहा है। इसके अलावा प्रबंधक से संबंधित जितनी भी कार्य है सब ठप पड़े हैं मामला सदर अस्पताल से चोरी हुए पुराने गोदरेज ले जाते कबाड़ दुकानदार को पकड़ा गया था। जिसमें कबाड़ वाला मोहम्मद सनी को पुलिस ने पकड़ा था। वही कवाड़ वाले ने बताया कि हमें सदर अस्पताल के बिजली मिस्त्री मोहम्मद जमाल ने बुलाकर कवाड़ी खरीदने को कहा और तब हम यह काम कर रहे हैं। ।वही मोहम्मद जमाल को पुलिस ने अरेस्ट करने के बाद पुलिस को बताया कि हमें अस्पताल प्रबंधक एवं लेखापाल के आदेश पर कबाड़ बुलाया था और बेचने ले जा रहे थे। वहीं पुलिस ने उक्त मामले को लेकर प्रबंधक एवं लेखापाल सहित 4 लोगों का नाम दर्ज किया है। इस मामले में अस्पताल प्रशासन आगे आने को तैयार नहीं है, जबकि इस मामले पर विभाग के अधिकारी चुपचाप बैठे हैं ।इस पर कोई गंभीरता से नहीं लिया जा रहा है। वहीं इस मामला एक जांच का विषय है। ताकि जो भी दोषी हो उस पर कानूनी कार्रवाई की जाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WhatsApp chat