सरकार द्वारा पंचायत स्तर पे पंचायत प्रतिनिधियों की नियुक्ति कर कई सारे योजनाओं का लाभ जनता तक पहुँचाना चाहती है।

मुंगेर जिला के संग्रामपुर से रोहित कुमार का रिपोट

सरकार द्वारा पंचायत स्तर पे पंचायत प्रतिनिधियों की नियुक्ति कर कई सारे योजनाओं का लाभ जनता तक पहुँचाना चाहती है। इसके लिए प्रखंड़ स्तर पर भी पदाधिकारियों की नियुक्ति की गई हैं। ताकि सुदूर ग्रामीण इलाकों में वसर कर रहे लोग जागरूक हो साथ ही सरकार द्वारा दी जा रही लाभों से लाभान्वित हो सके। परन्तु उसी समाज के लोगों द्वारा चुने गए प्रतिनिधी ही उनके काम ना आये तो वे तय है कि सरकार द्वारा करोड़ों रूपये के योजना धरे के धरे रह जाएंगे। कुछ ऐसा ही वाक्या प्रखंड के रामपुर पंचयात की है। इस पंचायत में अंधेर नगरी चौपट राजा बाली कहानी चरितार्थ होता नजर आ रहा है। बताते चलें कि पहले से संभावित रोस्टर के अनुसार प्रखंड के रामपुर पंचयात के प्रखंड पंचायती राज पदाधिकारी रंजीत कुमार के द्वारा पंचायत भवन, ग्राम पंचायत एवं ग्राम कचहरी का औचक निरीक्षण करना था। इसी सिलसिले में श्री कुमार के द्वारा गुरुवार को रामपुर पंचायत के पंचायत भवन का निरीक्षण करने हेतु सम्बंधित पंचायत के मुखिया, पंचयात सचिव, वार्ड सदस्य, पंचायत के सरपंच इन सभी प्रतिनिधियों को पंचयात सचिव के माध्यम से पत्र प्रेषित किया गया था। परन्तु पदाधिकारियों के निर्देश को ताक पर रख कर कोई भी प्रतिनिधि या पंचायत सचिव नहीं पहुँचे। पंचयात भवन में ताला लटका हुआ पाया गया। एवं किसी प्रकार की कोई भी सूचना इन पंचयात प्रतिनिधियों के द्वारा नहीं दी गई थी। ना ही सुचना पट पर किसी प्रकार की कोई सूचना अंकित की गई थी। बात सिर्फ यही खत्म नहीं होती है। सवाल इस बात की है कि अगर पंचायत प्रतिनिधियों की यही रवैया रहा तो क्या साकार द्वारा दिये जा रहे अनेकों लाभ समाज के अंतिम लोगों तक पहुँच पाएगा। ये एक सोचनीय प्रश्न है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WhatsApp chat