LIVE24X7

सुरकुमी वन क्षेत्र में बड़े पैमाने पर हो रहा है अवैध पत्थर का उत्खनन.

प्रतिबंधित वन क्षेत्र में पत्थर माफियाओं के पनाहगार बना वन प्रशाशन लातेहार जिला के गारू प्रखण्ड मेंगारू प्रखंड की वनभूमि पर अवैध उत्खनन इन दिनों पूरे चरम पर है। एक ओर जहां वन भूमि को खोखला कर वन संपदा में शामिल पत्थर, रेत का अवैध उत्खनन होना सामने आया है, तो वहीं दूसरी ओर वन विभाग के अधिकारी कर्मचारियों का संरक्षण भी प्राप्त है। प्रखंड के वन क्षेत्र सुरकुमी पीएफ के इलाके से दर्जनों ट्रेक्कर के माध्यम से पत्थर और बालू का अवैध रूप से उत्खनन हो रहा है। जिसको लेकर ग्रामीणों में काफी रोष देखा जा रहा है। बड़ी बात यह है वन क्षेत्र में धड़ल्ले से चल रहे उत्खनन में वन विभाग के कर्मी भी संलिप्त है। वन क्षेत्र के खरवाढोंढ़ा,डेरापानी,कोहबरवा नदी से बालू-पत्थर निकाल कर चैकडैम निर्माण में लगाया जा रहा है उत्खनन कार्य मे लगे महिंद्रा ट्रैक्टर वाहन संख्या jh8f1309 का ड्राईवर सोहराई सिंह ने बताया की ये वाहन रतन सिंह का है जो गारू पश्चिमी रेंजर कार्यालय में काम करते हैं। वही कोहबरवा नदी से बालू का उठाव रेंजर के निर्देश पर किया जा रहा है। नाम न बताने की शर्त पर वनकर्मियों ने बताया कि प्रतिबंधित वन क्षेत्र में अवैध उत्खनन में वन विभाग के कई कर्मी और पदाधिकारी शामिल है। जो पत्थर माफियाओं के साथ मिल के कार्य कर रहे है। _जांच के बाद उत्खनन कार्य मे लगे कर्मियो पर होगी करवाई :- एसीएफ_एसीएफ मदनजीत सिंह ने पूरे मामले पर कहा कि अवैध उत्खनन की जानकारियां बीट स्तर पर ही होती हैं, अवैध उत्खनन की जानकारी नही है, मामले की जांच की जायेगी अगर अवैध उत्खनन में वन कर्मी संलिप्त है,तो दोषियों पर करवाई की जाएगी।

रिपोर्ट राहुल कुमार के साथ बद्री गुप्ता लातेहार ब्यूरो की रिपोर्ट

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WhatsApp chat