स्नोतर हाई स्कूल हेरहंज में सरदार वलभ्भ भाई पटेल की जयंती मनाई गई।

लातेहर हेरहंज से सोनू गुप्ता की रिपोर्ट ।

सरदार वलभ्भ भाई पटेल के जन्मदिवस पर स्नोतर हाई स्कूल हेरहंज में शपथ समारोह सह जन्मदिवस मनाया गया।इस कार्यक्रम में विद्यालय के शिक्षक उदय प्रसाद ने सरदार पटेल के जीवन के बारे में बच्चों को ब ताया सरदार वलभ्भ भाई पटेल का जन्म 31 अक्टूबर 1875 को गुजरात के एक छोटे से गावँ में साधारण परिवार में हुवा था।उन्होंने प्रारम्भिक शिक्षा करमसद में ग्रहण किया था।उन्होंने वकालत की शिक्षा हाशिल कर वकालत भी किया।

सरदार पटेल ने शादी भी किया था लेकिन जब इनकी उम्र 33 वर्ष की थी तब ही इनकी पत्नी का देहांत हो गया।उन्होंने कानूनी शिक्षा इंग्लैण्ड से प्राप्त किया व 1913 में भारत लौटे।उन्होंने विदेशी कपड़ों को त्याग कर खादी वस्त्र धारण किया।1922 में नगर निगम के अध्यक्ष चुने गए।1930 ई0 में नमक सत्याग्रह के द्वरान उन्हें गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया उसके बाद पूरे गुजरात मे आंदोलन और तेज कर दिया गया अंततः मजबूर होकर ब्रिटिस सरकार पटेल को रिहा किया।1931 में उन्हें कांग्रेस पार्टी का अध्यक्ष चुना गया।1942 में कांग्रेस ने ब्रिटिश सरकार के विरुद्ध भारत छोड़ो आंदोलन किया।

15 अगस्त 1947 को भारत स्वतन्त्र हुवा।उसके बाद पण्डित नेहरू को प्रथम प्रधानमंत्री व सरदार पटेल को उप प्रधानमंत्री बनाया गया।उन्होंने एक बिखरे हुए देश को बिना किसी रक्तपात के संगठित किया।सरदार पटेल को लौह पुरुष का खिताब भी मिला।सरदार पटेल का देहांत 15 दिसम्बर 1950 को हृदय गति रुकने के कारण हुआ। इसके ततपश्चात विद्यालय के बच्चों को शपथ ग्रहण दिलाया गया।मौके पर विद्यालय के अन्य शिक्षक मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WhatsApp chat