खनन एवं भूतत्व विभाग बिहार पटना द्वारा वित्तीय वर्ष 2007 से 8 से लगातार राजस्व वसूली में बढ़ोतरी कर रहा है। वित्तीय वर्ष 2016 से 17 में वित्त विभाग द्वारा निर्धारित लक्ष्य 1100•00 करोड़ रुपये के विरुद्ध माह मार्च 2017 तक 99,410•19 लाख रुपए की वसूली की जा चुकी है।

पत्थर के खनन पट्टे वर्तमान में कुल चार खनन पट्टे बिहार लघु खनिज समनुदान नियमावली 1972 के नियम 9 के अनुसार पूर्व के स्वीकृत है। जिसमें से वित्तीय वर्ष 2019 से 20 में तीन एवं वित्तीय वर्ष 2020 से 21 एक खनन पट्टा की अवधि समाप्त हो जाएगी। नए बंदोबस्ती के क्रम में अब तक बिहार राज्य के 5 जिलों गया-9 नवादा-17 शेखपुरा-13 औरंगाबाद-2 एवं बांका-1 में कुल 43 पत्थर खनन पट्टो की लोक नीलामी के माध्यम से बंदोबस्ती की गई है। 5 वर्षों हेतु बंदोबस्ती राशि कूल 755•65 करोड़ रुपये है। माननीय सर्वोच्च न्यायालय के न्यायाधीश दिनांक 27•02•12 दीपक कुमार इत्यादि वनाम हरियाणा राज्य सरकार एवं अन्य के अनुपालन में बिहार लघु खनिज समनुदान नियमावली 2014 तथा बिहार लघु खनिज समनुदान नियमावली 1972 द्वारा राज्य के विभिन्न जिलों में पत्थर भूखंडों की लोक नीलामी द्वारा 5 हेक्टेयर था उससे अधिक क्षेत्र के लिए खनन पट्टों के बंदोबस्ती कराने की कार्रवाई की गई है।

बालू माननीय सर्वोच्च न्यायालय द्वारा दिनांक 27 02 2012 को दीपक कुमार वनाम हरियाणा सरकार एवं अन्य से संबंधित मामले में पारित न्यायाधीश के आलोक में खान एवं भूतत्व विभाग द्वारा नई बालू नीति तैयार कर अधिसूचना संख्या 2214 एम दिनांक 27‌•08•2013

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *