फिल्म परोड्यूसर अजय सिंह राजपूत ने कि आम जनता से घर मै रहने की अपील जब तक ये लोक डावॉन्न नही कुल जाता जब तक कोइ भी अपने घर से बाहर ना निकले अजय सिंह राजपूत ने बताया कि उनोन क्रोना की वजह से अपनी फिल्म का शूट भी रोक दिया कि किसी भी आर्टिस्ट को कोई प्रोबलेम ना होमुम्बई से उरई आयी फिल्म करने टीम करोना की बजाय से फसी।।।A&A Entertainmentके बैनर तले बन रही हिंदी फिल्म “लव ज़िन्दगी और नशा” जिसके प्रोड्यूसर अजय सिंह राजपूत एंड गुलज़ार बॉस।

फिल्म के डायरेक्टर दिलीप श्रीवास एसोसिएट डायरेक्टर चंदन ठाकुर ,डी ओ पी अजहर शेख , हिंदी फिल्म कि शूटिंग के लिए उरई जिला जालौन अपने पूरी टीम के साथ मुंबई से ५/३/२०२० को उरई आए फिल्म मै मुख्य भूमिका में गौरव सिंह, ट्विंकल तलाविया सर्ननया शर्मा, सुशांत सिंह, नेगेटिव किरदार में गौरव सिंह, प्रशांत तोतला, ऊषा चावान, सहकलाकार में राज कौर राय आकाश ठाकुर राणा, स्नेहा अग्रवाल मीना सिंह, अनिल वर्मा, ज्योति सिंह, आदि सामिल हुए ।फिल्म के डायरेक्टर दिलीप श्रीवास जी का मानना था कि इस हिन्दी फिल्म कि शूटिंग उरई जिला जालौन ( बुन्देलखण्ड ) उत्तर प्रदेश में करने से यहां के लोगों में जारूकता बढ़ेगी यहां से कुछ कलाकारों को बढ़ावा मिलेगा। वो कलाकार इस लाइन में अपना कैरियर बना सकेंगे एशी सोच रखते हुए दिलीप श्रीवास जी से अपने फिल्म के प्रोड्यूसर अजय सिंह और गुलज़ार जी से बहुत ही दिल से अगराह किया कि अगर हम इस फिल्म का शूट उरई जिला जालौन मै करते है तो हो सकता है कि हमारी बजाय से अगर किसी एक बच्चे का कैरियर बनना है तो ये उस परिवार के लिए भी बहुत अच्छा होगा। दिलीप श्रीवास जी की बात सुनकर दोनों प्रोड्यूसर ने उरई में शूट करने के लिए हां कर दिया। फिर क्या सभी एक साथ उरई आए और यहां शूट करने की परमीशन लिया। परमीशन मिलने के बाद मुंबई से पुरा शूट इक्विपमेंट २३. ५.२०२०मंगाया जा रहा था तभी इतिफाक से करोना के चलते हुए मनायनिय प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी जी ने लॉकडाउन का ऐलान किया। हम उनके इस ऐलान का पालन करते हुए आज भी उरई हम सबके साथ फसे हुए है। सरकार से उम्मीद है कि हम तक कुछ साहेता पहुंचाई जाए जिससे में Lockdwon की बजाय से इतना लोश हुए है तो सायाद कुछ राहत मिले। जो हिंदी फिल्म का निर्माण हम कर रहे थे ये एक कॉलेज बेस लव स्टोरी है जिसमें ड्रग इन्क्लूड है। इस फिल्म से हमारे समाज को एक अच्छा मैसेज मिलेगा जिससे न्यू युवा पीढ़ी को कुछ नया सीखने को मिलेगा और वो अपने कैरियर के प्रति ज़ादा ध्यान देने और कैरियर को सामालेंगे। हम ये उद्देस लेके यहां फिल्म करने के लिए आए और इन परिस्थिियों के कारण आज हम आपके उरई शहर में फंसे हुए है। फिरभी हम Lockdwon का सम्मान कर रहे है और करते रहेंगे धन्यवाद।।।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *